Headline • नशे में पुलिसकर्मी ने किया बवाल, सीएम अखिलेश को बता रहा था भाई• करन की किताब में हुए ऐसे खुलासे, जानें रणबीर और सनी ने कब खोई थी 'Virginity'• BJP-BSP के खिलाफ अखिलेश की नई पॉलिसी, ऐसे 'साइकिल' को दिलाएंगे जीत• बीजेपी के सबसे बुजुर्ग नेता हुए ND तिवारी, बेटे रोहित शेखर के साथ BJP का थामा दामन• शॉट लगाते समय बैट्समैन के हाथ से यूं छूटा बल्ला, विकेटकीपर का टूटा जबड़ा• कैशलेस इंडिया को लग सकता है झटका, ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का गिरा ग्राफ• नाइजीरियन वायुसेना ने गलती से रिफ्यूजी कैम्प पर गिराए बम, 100 से ज्यादा की मौत• सेशंस कोर्ट ने सलमान खान को किया बरी, जेल जाने से बचे बॉलीवुड के 'दबंग'• कानपुर रेल हादसे के पीछे ISI का हाथ, जांच के बाद बिहार पुलिस का दावा• पाक मूल के ब्रिटिश बॉक्सर आमिर का सेक्स वीडियो लीक, वाइफ फरयाल पर लगे आरोप• 1.2 लाख स्क्वायर किमी में हुई थी MH-370 की खोज, बंद हुआ सर्च अभियान • कभी दिल्ली की सड़कों पर खींचते थे टांगा, अब कई CEO से ज्यादा पाते हैं सैलरी• शीना बोरा मर्डर मिस्ट्री: इंद्राणी-पीटर मुखर्जी की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने तय किए मर्डर के आरोप • 'दंगल' की बेटी के बचाव में आए आमिर, कहा- आप देश नहीं दुनिया के लिए रोल मॉडल• भतीजे से हार मानने को तैयार नहीं शिवपाल, EC के फैसले को कोर्ट में देंगे चुनौती!• दो दिन में गठबंधन का ऐलान करेंगे अखिलेश, कहा- थोड़ा इंतजार कीजिए • BJP ने UP में 149 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की, उत्तराखंड में 64 सीटों पर उतारे प्रत्याशी• अखिलेश करेंगे 'साइकिल' की सवारी, चुनाव आयोग में मुलायम को मिली शिकस्त• राहुल गांधी ने जनता को दिखाई अपनी गरीबी, फटी जेब के सहारे कांग्रेस की नैया• दीपिका के साथ विन डीजल की 'चाय पर चर्चा', प्रमोशन के लिए आए थे इंडिया• दीपिका के साथ विन डीजल की 'चाय पर चर्चा', प्रमोशन के लिए आए थे इंडिया• मैदान पर धोनी से हुई ऐसी भूल, कैप्टन के अंदाज में किया रिएक्ट• कार्यकर्ताओं के बीच इमोशनल हुए मुलायम, कहा- मुस्लिमों को पार्टी से दूर कर रहा अखिलेश• J&K: अनंतनाग में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के 3 आतंकियों को मार गिराया• उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस के यशपाल आर्य बीजेपी में हुए शामिल, अमित शाह ने कराई एंट्री
सपा में सुलह की 8वीं कोशिश, अखिलेश-मुलायम के बीच बैठक जारी

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में चल रहे वि‍वादों के बीच चुनाव आयोग में 'साइकिल' पर अपना दावा जताकर लौटे मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को कहा कि अगले चुनाव में अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे। हालांकि उन्होंने इस बात का जवाब नही दिया कि पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष की भूमिका कौन निभायेगा। साथ ही प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न देने वाले फार्म पर किसके हस्ताक्षर दिखाई देंगे।माना जा रहा हैं इन सभी सवालों पर मंगलवार को अखिलेश के साथ होने वाली बैठक में चर्चा की जायेगी। बता दें कि सोमवार शाम दि‍ल्‍ली से लखनऊ लौटे मुलायम सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि "समाजवादी पार्टी एक ही है। चुनाव के बाद अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसमें कोई कन्‍फ्यूजन नहीं है। समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी। 

अब तक सुलह की 7 कोशिशें हो चुकी है नाकाम

 

-आपको बता दें कि सुलह की पहली कोशिश 31 दि‍संबर 2016 को की गई। जब मुलायम के साथ हुई मीटिंग में अखिलेश ने अपनी 4 शर्तें रखी थीं।

-जिसमें पहली शर्त में अखिलेश ने अमर सिंह को पार्टी से बर्खास्त करने के लिए कहा था।

-दूसरी शर्त में अखिलेश ने कहा कि शिवपाल यादव को राष्ट्रीय राजनीति में भेजा जाए।

-तीसरी शर्त में कहा गया कि टिकट बंटवारा मुलायम और अखिलेश की सहमति से हो। इसमें किसी तीसरे की दखलंदाजी न हो।

-चौथी शर्त में मांग की गई कि टीम अखिलेश के बर्खास्त लोगों को भी पार्टी में वापस लिया जाए।

-हालांकि अखिलेश की ये सभी शर्तें नहीं मानी गईं।

-जबकि सुलह की दूसरी कोशिश 2 जनवरी को की गई। जब सपा के सिंबल पर दावेदारी के लि‍ए शि‍वपाल और अमर सिंह के साथ मुलायम चुनाव आयोग पहुंचे।

-3 जनवरी को अपनी तीसरी सुलह की कोशिश के चलते अखि‍लेश यादव ने मुलायम सिंह के घर पर जाकर मुलाकात की, पर बात नहीं बनी। 

-बता दें कि 4 जनवरी को हुई अपनी चौथी सुलह की कोशिश में आजम के साथ मुलायम की 5 घंटे तक बातचीत हुई, लेकि‍न फिर भी कोई समझौता नहीं हो सका। 

- लेकिन पांचवी बार ये कोशिश 5 जनवरी को की गई। जब देर रात तक करीब 4 घंटे मुलायम, शि‍वपाल और अमर सिंह के बीच दि‍ल्‍ली में बातचीत हुई। 

- 6 जनवरी को छठी बार सुबह अखि‍लेश यादव से शि‍वपाल और अमर ने मुलाकात की।लेकिन कोई फैसला नही हो पाया।

- सातवीं बार 8 जनवरी रविवार की सुबह अखिलेश ने मुलायम को फोन किया था। मुलायम ने अखिलेश के सामने दो शर्तें रखीं थीं। पहली की वे नेशनल प्रेसिडेंट बने रहेंगे और दूसरी शिवपाल प्रदेश अध्‍यक्ष बने रहेंगे। सूत्रों के अनुसार ये दोनों ही शर्तें अखिलेश ने नहीं मानी थी।

- बहरहाल आज आठंवी बार 10 जनवरी को अखिलेश एक बार फिर मुलायम के घर उनसे मिलने पहुंचे हैं।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 
  • samachar plus
  • live-tv-uttrakhand
  • live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: