Headline • GST काउंसिल की बैठक में 29 चीजों पर रेट की गई शून्य, रिएल एस्टेट, पेट्रोल-डीजल पर कोई फैसला नहीं• अब व्हाट्सएप से करिए मनी ट्रांसफर, फरवरी में  लाइव हो सकता है फीचर• अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर हत्याकांड का खुलासा, वीडियो का बदला लेने के लिए प्रेमिका ने ही की थी हत्या• पाकिस्तान के लिए अच्छी खबर, सुरक्षा सहायता पैकेज पर रोक के बावजूद सैन्य प्रशिक्षण जारी रखेगा अमेरिका• अखिलेश ने फिर साधा योगी सरकार पर निशाना, कहा, इस सरकार से किसी को उम्मीद नहीं है• पद्मावत पर SC के फैसले के बाद विरोध का सिलसिला शुरु, बजरंग दल ने मेरठ में जुलूस निकाला• रायबरेली के ARTO आफिस में मची है अंधेरगर्दी, दलालों के बिना नहीं होता है कोई काम• बुंदेलखंड के किसानों की कौन सुने, क्रय केंद्र पर बिन पैसे काम नहीं हो रहा, किसान ने दी जान• कजाकिस्तान: बस में लगी आग, 52 लोगों की मौत• 'पद्मावत' नहीं चलनी चाहिए, फिल्म हॉल में कर्फ्यू लगा दे'• लखनऊ के स्कूल में रेयान जैसा कांड, पुलिस ने स्कूल के प्रिसिंपल को किया गिरफ्तार• प्रेग्नेंसी की खबरों से परेशान हुई बिपाशा बसु, गुस्से में किया ये ट्वीट• वाराणसी में अवैध अंडरग्राउंड मार्केट बनाने के मामले में 7 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, 2 गिरफ्तार• योगी सरकार ने खेल और खिलाड़ियों के लिए खोला पिटारा, चेतन चौहान ने की कई घोषणाएं• ब्राइटलैंड स्कूल के घायल छात्र से मिले सीएम योगी, छात्रा ने नहीं कबूल किया अपना जूर्म• आश्चर्यः आठवीं का छात्र सुनाता है 20 करोड़ तक के पहाड़े, सुलझाता है इंटर और बीएससी के गणित • सुप्रीम कोर्ट ने चार राज्यों में फिल्म पर लगा बैन हटाया,अब सभी राज्यों में रिलीज होगी 'पद्मावत' • लखनऊ के स्कूल में रेयान जैसा कांड,अभिभावकों ने स्कूल के सामने किया हंगामा• यूपी पुलिस के ट्रेनी SI ने दिया इस्तीफा, बताई ये बड़ी वजह• हरदोई : घने कोहरे के कारण तालाब में गिरी कार,5 की मौत• मथुरा :पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में 8 साल के बच्चे की मौत,सीएम योगी ने दिए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश• 7वीं की छात्रा ने टॉयलेट में पहली क्लास के छात्र को मारा चाकू, कराना चाहती थी स्कूल की छुट्टी !• जम्मू कश्मीर: पाकिस्तान ने तोड़ा सीजफायर, BSF का एक जवान शहीद• कन्नौज : पुलिस ने मुठभेड़ कर गिरफ्तार किया 25 हजार का इनामी बदमाश• बैग से पेट को क्यों छुपा रही है बिपाशा, क्या वह प्रेग्नेंट है, देखें वीडियो

आशीष नेहरा ने कराची में मोईन खान को नहीं बनाने दिए थे 6 बॉल पर 9 रन 

नई दिल्ली. टीम इंडिया के दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संयास की घोषणा कर दिया है। भारत के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा अपने जीवन का अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच एक नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने घर दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर होने वाले टी-20 मैच के रूप में खेलेंगे। इसके बाद 38 साल के नेहरा किसी भी प्रारूप में भारतीय जर्सी में नजर नहीं आएंगे। आइए जानते है नेहरा के पांच बेहतरीन रिकॉर्ड के बारे में... 

 

1999 में किए थे डेब्यू 

-टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज आशीष नेहरा 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में और 2001 में जिंबाब्वे के खिलाफ वन डे में डेब्यू किया था।

-बहुत जल्दी ही नेहरा नई गेंद के बेहतरीन गेंदबाज माने जाने लगे, लेकिन लगातार चोटों ने उनके करियर को तेजी से आगे नहीं बढ़ने दिया।

-12 सर्जरी झेल चुके नेहरा के लिए खुद को प्रेरित करना और दोबारा कमबैक करना आसान नहीं था।

-मगर 38 साल की उम्र में नेहरा ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 में वापस लौटे।

-यह कम चौंकाने वाली बात नहीं थी। उनकी परफॉर्मेंस हमेशा की तरह ही शानदार रही।

 

15 साल बाद विदेशी जमीन पर दिलाई जीत 

-भारत 15 साल से विदेशी जमीन पर कोई सीरीज नहीं जीता था।

-उस समय 22 वर्षीय नेहरा का यह पहला विदेशी दौरा था।

-पहली पारी में नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 23 रन पर 3 विकेट लिए।

-जिंबाब्वे की पूरी टीम 173 रन पर आउट हो गई।

-भारत को पहली पारी में 145 रनों की लीड मिल गईय़

-दूसरी पारी में भी नेहरा ने एंडी फ्लॉवर और डिओन इब्राहिम का विकेट निकाला।

-नेहरा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत यह टेस्ट जीत गया।

 

उल्टी होने के बाद भी नहीं माने हार 

-2003 के विश्व कप में डर्बन में हुए लीग मैच इंग्लैंड के खिलाफ नेहरा की घातक गेंदबाजी आज भी भारतीय फैंस की दिमागा में है।

-भारत ने पहले खेलते हुए 249 रन बनाए थे, लेकिन इस मैच में आशीष नेहरा ने शानदार तेज गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 23 रन पर 6 विकेट निकाले।

-इस दौरान नेहरा लगातार 140 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी किए थे।

-इंगलैंड का कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदों को नहीं खेल पाया और भारत 82 रनों से यह मैच जीत गया। 

 

पाकिस्तान के खिलाफ किए थे शानदार गेंदबाजी 

-2009 के बाद से नेहरा जहीर खान के साथ भारत के मुख्य गेंदबाज बन चुके थे।

-हालांकि टीम में उनका आना जाना लगा हुआ था। लेकिन वन डे में टीम में उन्होंने अपनी जगह बना ली थी।

-2011 के विश्व कप में नेहरा ने केवल तीन मैच खेले।

-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बावजूद उन्हें सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ टीम में शामिल कर लिया गया।

-पाकिस्तान 260 रनों का बचाव कर रहा था। नेहरा को शुरू में विकेट नहीं मिले, लेकिन रन गति पर वह अंकुश लगाये रहे।

-उनका गेंदबाजी प्रदर्शन रहा- 10 ओवरों में 33 रन 2 विकेट।

 

मोइन खान को नहीं बनाने दिए थे 9 रन 

-टीम इंडिया 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर गई हुई थी। वनडे सीरीज का पहला मैच कराची में खेला जा रहा था।

-जहां पर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग के शानदार अर्धशतकीय पारी की बदौलत 349 रन का विशाल स्कोर खड़ा की थी।

-जिसके जवाब में पाकिस्तान के तरफ से इजमामूल हक के बेहतरीन शतकीय पारी के बदौलत पाकिस्तान जीत के करीब पहुंच गया था।

-आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 9 रन चाहिए था। 

-जिसके बाद भारतीय कप्तान सौरभ गांगूली ने भरोसेमंद गेंदबाज आशीष नेहरा को गेंदबाजी की जिम्मेवारी सौपी। 

-नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस ओवप में महज 3 रन दिए थे, टीम इंडिया 6 रनों से जीत दर्ज की थी।  

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: