Headline • दो गोल्ड सहित चार मेडल जीतने वाली बैडमिंटन खिलाड़ी मनिका को मिल सकता है अर्जुन पुरस्कार• दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली सेलिब्रिटीज में क्रिकेट से एकमात्र विराट कोहली, सचिन ने लिखी प्रोफाइल• संभल के गांवों में 10 साल पहले लगे थे खंभे लेकिन आजतक नहीं पहुंची बिजली, अंधेरे में जीते हैं लोग• अब भारत भी करेगा आतंकी ठिकानों पर ड्रोन से हमला, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ड्रोन की बिक्री को दी हरी झंडी• मिलिए रियल लाइफ राउडी राठौड़ से, जिनके नाम मात्र से बदमाश कांपने लगते हैं• गाजियाबाद की नई एलिवेटेड रोड पर होगी मैराथन दौड़, 22 व 23 को प्रदेश का पहला कचरा महोत्सव• बरेली के जिला अस्पताल में आॅक्सीजन लीक से हड़कंप, 15 मिनट तक भर्ती बच्चों को नहीं मिली आॅक्सीजन• ATM में आए पैसे तो लोगों ने की लक्ष्मी मैया की पूजा• बीजेपी सांसद ने कहा, हम नहीं चाहते राजनीतिक मुकदमें वापस हो, मुजफ्फरनगर दंगों की अगली सुनवाई 29 मई को• मंच सजा था, जयमाल होने वाली थी कि फिल्मी स्टाइल में प्रेमी मंच पर पहुंचा और लड़की को प्रपोज कर दिया, फिर..• Oh No ! बंद हो जाएगा टीवी शो 'नामकरण', इस दिन आएगा आखिरी एपिसोड़ !• बीजेपी में चल पड़ा है दलित के घर भोजन करने का फैशन, अमित शाह के बाद अब मेनका गांधी ने भी खाना खाया• 'केसरी' की शूटिंग के दौरान घायल हुए अक्षय कुमार, मुंबई लौटने से किया इंकार• कांग्रेस MLC ने कहा, प्रियंका गांधी ने जबरन इस्तीफा लिखवा लिया था• गले पर तख्ती लगाकर इस महिला को बताना पड़ रहा है कि वह जिंदा है, सरकारी दस्तावेजों में मृत है• जब आशका ने अपने पति ब्रेंट के साथ किया योगा, वीडियो वायरल• सुनील ग्रोवर के हाथ लगी ये बड़ी फिल्म,बनेंगे सलमान खान के दोस्त !• दहेज को लेकर नहीं देख पाई पिता का अपमान,दूल्हे से कहा-'जा भाग जा अब नहीं करनी शादी'• राष्ट्रपति से वीरता पुरस्कार पाने वाली नाजिया को दबंगों ने पीटा• मुरादाबाद : पेपर देने आई BA की छात्रा से रेप• नरोदा पाटिया दंगा: गुजरात हाईकोर्ट ने माया कोडनानी को किया बरी,बाबू बजरंगी को ताउम्र जेल• #MeToo पाकिस्‍तानी सिंगर मीशा शफी ने अली जफर पर लगाए यौन शोषण के आरोप, कहा.....• उन्नाव रेप केस : आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से वापस ली गई 'Y' कैटेगरी की सुरक्षा• UP : एटा में रेप के बाद 9 साल की मासूम की हत्या, तीन दिन में दूसरी घटना• फेसबुक पर सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बनें योगी आदित्यनाथ

आशीष नेहरा ने कराची में मोईन खान को नहीं बनाने दिए थे 6 बॉल पर 9 रन 

नई दिल्ली. टीम इंडिया के दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संयास की घोषणा कर दिया है। भारत के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा अपने जीवन का अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच एक नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने घर दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर होने वाले टी-20 मैच के रूप में खेलेंगे। इसके बाद 38 साल के नेहरा किसी भी प्रारूप में भारतीय जर्सी में नजर नहीं आएंगे। आइए जानते है नेहरा के पांच बेहतरीन रिकॉर्ड के बारे में... 

 

1999 में किए थे डेब्यू 

-टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज आशीष नेहरा 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में और 2001 में जिंबाब्वे के खिलाफ वन डे में डेब्यू किया था।

-बहुत जल्दी ही नेहरा नई गेंद के बेहतरीन गेंदबाज माने जाने लगे, लेकिन लगातार चोटों ने उनके करियर को तेजी से आगे नहीं बढ़ने दिया।

-12 सर्जरी झेल चुके नेहरा के लिए खुद को प्रेरित करना और दोबारा कमबैक करना आसान नहीं था।

-मगर 38 साल की उम्र में नेहरा ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 में वापस लौटे।

-यह कम चौंकाने वाली बात नहीं थी। उनकी परफॉर्मेंस हमेशा की तरह ही शानदार रही।

 

15 साल बाद विदेशी जमीन पर दिलाई जीत 

-भारत 15 साल से विदेशी जमीन पर कोई सीरीज नहीं जीता था।

-उस समय 22 वर्षीय नेहरा का यह पहला विदेशी दौरा था।

-पहली पारी में नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 23 रन पर 3 विकेट लिए।

-जिंबाब्वे की पूरी टीम 173 रन पर आउट हो गई।

-भारत को पहली पारी में 145 रनों की लीड मिल गईय़

-दूसरी पारी में भी नेहरा ने एंडी फ्लॉवर और डिओन इब्राहिम का विकेट निकाला।

-नेहरा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत यह टेस्ट जीत गया।

 

उल्टी होने के बाद भी नहीं माने हार 

-2003 के विश्व कप में डर्बन में हुए लीग मैच इंग्लैंड के खिलाफ नेहरा की घातक गेंदबाजी आज भी भारतीय फैंस की दिमागा में है।

-भारत ने पहले खेलते हुए 249 रन बनाए थे, लेकिन इस मैच में आशीष नेहरा ने शानदार तेज गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 23 रन पर 6 विकेट निकाले।

-इस दौरान नेहरा लगातार 140 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी किए थे।

-इंगलैंड का कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदों को नहीं खेल पाया और भारत 82 रनों से यह मैच जीत गया। 

 

पाकिस्तान के खिलाफ किए थे शानदार गेंदबाजी 

-2009 के बाद से नेहरा जहीर खान के साथ भारत के मुख्य गेंदबाज बन चुके थे।

-हालांकि टीम में उनका आना जाना लगा हुआ था। लेकिन वन डे में टीम में उन्होंने अपनी जगह बना ली थी।

-2011 के विश्व कप में नेहरा ने केवल तीन मैच खेले।

-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बावजूद उन्हें सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ टीम में शामिल कर लिया गया।

-पाकिस्तान 260 रनों का बचाव कर रहा था। नेहरा को शुरू में विकेट नहीं मिले, लेकिन रन गति पर वह अंकुश लगाये रहे।

-उनका गेंदबाजी प्रदर्शन रहा- 10 ओवरों में 33 रन 2 विकेट।

 

मोइन खान को नहीं बनाने दिए थे 9 रन 

-टीम इंडिया 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर गई हुई थी। वनडे सीरीज का पहला मैच कराची में खेला जा रहा था।

-जहां पर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग के शानदार अर्धशतकीय पारी की बदौलत 349 रन का विशाल स्कोर खड़ा की थी।

-जिसके जवाब में पाकिस्तान के तरफ से इजमामूल हक के बेहतरीन शतकीय पारी के बदौलत पाकिस्तान जीत के करीब पहुंच गया था।

-आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 9 रन चाहिए था। 

-जिसके बाद भारतीय कप्तान सौरभ गांगूली ने भरोसेमंद गेंदबाज आशीष नेहरा को गेंदबाजी की जिम्मेवारी सौपी। 

-नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस ओवप में महज 3 रन दिए थे, टीम इंडिया 6 रनों से जीत दर्ज की थी।  

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: