Headline • यमुना ब्रिज से नदी में कूदी छात्रा, गोताखोरों ने ऐसे बचाई जान• परिवार के साथ माधुरी ने देखा ताज, ट्वीट कर कहा...• आज मेरठ आएंगे अखिलेश यादव, जानें क्या है कार्यक्रम • भगवान राम की आरती करना मुस्लिम महिलाओं को पड़ा भारी, जारी हुआ फतवा... इस्लाम से खारिज • पटाखा जलाने को लेकर हुआ विवाद, दर्जनों घायल, तीन की हालात गंभीर• हार्दिक पटेल को लगा बड़ा झटका, दो करीबी नेता बीजेपी में शामिल• अस्पताल में ऑक्सीजन न मिलने से मरीज ने तोड़ा दम, परिजनों ने...• PM मोदी आज करेंगे गुजरात का दौरा, विधानसभा चुनाव से पहले देंगे ये बड़ा तोहफा• कोयली देवी का गांव में रहना हुआ मुश्किल, गांव वालों ने...• जम्मू कश्मीर : सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ कर मार गिराया एक आंतकवादी• दुर्गा विसर्जन के दौरान SP ने बंद कराया डीजे, किन्नरों ने किया हंगामा• दबंगों ने बरसाई गोली, कपड़ा व्यापारी ने ऐसे बचाई अपनी जान• घर से बाहर बुलाकर बदमाशों ने युवक को मारी गोली, हत्या के बाद तमंचा...• सेक्स चेंज कर लड़का से लड़की बन गया, अब बिकनी पहनने से कतरा रही है गौरी• 'ये सिर्फ सेक्स की बात नहीं है, बल्कि ये पावर का मामला है और ये एक हकीकत है'• मेरा नाम सपना चौधरी, हरियाणे की हूं मैं कतई हार ना माणूं• बरामदे पर सोईं किशोरी से पहले नानी का हालचाल पूछा फिर बोलेरो में डालकर किया गैंगरेप• पहले गैंगरेप किया फिर नग्न कर हत्या करने के बाद बोरे में भरकर लाश फेंक दी• श्रीलंका को 5 विकेट से PAK ने दी मात, इस गेंदबाज ने तोड़ा वकार युनिस का रिकॉर्ड • पचा नहीं क्षेत्र में RSS का कैंप लगाना, दो लड़के आए और गोली मारकर कर दी हत्या• अब मऊ के शाही इमाम ने कहा, सोशल मीडिया में फोटो अपलोड करना इस्लाम के खिलाफ है• श्रीसंत को BCCI का जवाब, दूसरे देश से भी खेल पाएंगे क्रिकेट• भारतीय टीम के सामने गेंदबाजी करते दिखे अर्जुन तेंदुलकर, कोहली ने भी किया सामना• एयरेटल समेत कई कंपनिया टैरिफ प्लान्स की कीमतों में करेगी इजाफा • खुलासा: RBI ने बैंक खाते से आधार लिंक करने का नहीं दिया आदेश

आशीष नेहरा ने कराची में मोईन खान को नहीं बनाने दिए थे 6 बॉल पर 9 रन 

नई दिल्ली. टीम इंडिया के दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संयास की घोषणा कर दिया है। भारत के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा अपने जीवन का अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच एक नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने घर दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर होने वाले टी-20 मैच के रूप में खेलेंगे। इसके बाद 38 साल के नेहरा किसी भी प्रारूप में भारतीय जर्सी में नजर नहीं आएंगे। आइए जानते है नेहरा के पांच बेहतरीन रिकॉर्ड के बारे में... 

 

1999 में किए थे डेब्यू 

-टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज आशीष नेहरा 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में और 2001 में जिंबाब्वे के खिलाफ वन डे में डेब्यू किया था।

-बहुत जल्दी ही नेहरा नई गेंद के बेहतरीन गेंदबाज माने जाने लगे, लेकिन लगातार चोटों ने उनके करियर को तेजी से आगे नहीं बढ़ने दिया।

-12 सर्जरी झेल चुके नेहरा के लिए खुद को प्रेरित करना और दोबारा कमबैक करना आसान नहीं था।

-मगर 38 साल की उम्र में नेहरा ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 में वापस लौटे।

-यह कम चौंकाने वाली बात नहीं थी। उनकी परफॉर्मेंस हमेशा की तरह ही शानदार रही।

 

15 साल बाद विदेशी जमीन पर दिलाई जीत 

-भारत 15 साल से विदेशी जमीन पर कोई सीरीज नहीं जीता था।

-उस समय 22 वर्षीय नेहरा का यह पहला विदेशी दौरा था।

-पहली पारी में नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 23 रन पर 3 विकेट लिए।

-जिंबाब्वे की पूरी टीम 173 रन पर आउट हो गई।

-भारत को पहली पारी में 145 रनों की लीड मिल गईय़

-दूसरी पारी में भी नेहरा ने एंडी फ्लॉवर और डिओन इब्राहिम का विकेट निकाला।

-नेहरा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत यह टेस्ट जीत गया।

 

उल्टी होने के बाद भी नहीं माने हार 

-2003 के विश्व कप में डर्बन में हुए लीग मैच इंग्लैंड के खिलाफ नेहरा की घातक गेंदबाजी आज भी भारतीय फैंस की दिमागा में है।

-भारत ने पहले खेलते हुए 249 रन बनाए थे, लेकिन इस मैच में आशीष नेहरा ने शानदार तेज गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 23 रन पर 6 विकेट निकाले।

-इस दौरान नेहरा लगातार 140 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी किए थे।

-इंगलैंड का कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदों को नहीं खेल पाया और भारत 82 रनों से यह मैच जीत गया। 

 

पाकिस्तान के खिलाफ किए थे शानदार गेंदबाजी 

-2009 के बाद से नेहरा जहीर खान के साथ भारत के मुख्य गेंदबाज बन चुके थे।

-हालांकि टीम में उनका आना जाना लगा हुआ था। लेकिन वन डे में टीम में उन्होंने अपनी जगह बना ली थी।

-2011 के विश्व कप में नेहरा ने केवल तीन मैच खेले।

-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बावजूद उन्हें सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ टीम में शामिल कर लिया गया।

-पाकिस्तान 260 रनों का बचाव कर रहा था। नेहरा को शुरू में विकेट नहीं मिले, लेकिन रन गति पर वह अंकुश लगाये रहे।

-उनका गेंदबाजी प्रदर्शन रहा- 10 ओवरों में 33 रन 2 विकेट।

 

मोइन खान को नहीं बनाने दिए थे 9 रन 

-टीम इंडिया 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर गई हुई थी। वनडे सीरीज का पहला मैच कराची में खेला जा रहा था।

-जहां पर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग के शानदार अर्धशतकीय पारी की बदौलत 349 रन का विशाल स्कोर खड़ा की थी।

-जिसके जवाब में पाकिस्तान के तरफ से इजमामूल हक के बेहतरीन शतकीय पारी के बदौलत पाकिस्तान जीत के करीब पहुंच गया था।

-आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 9 रन चाहिए था। 

-जिसके बाद भारतीय कप्तान सौरभ गांगूली ने भरोसेमंद गेंदबाज आशीष नेहरा को गेंदबाजी की जिम्मेवारी सौपी। 

-नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस ओवप में महज 3 रन दिए थे, टीम इंडिया 6 रनों से जीत दर्ज की थी।  

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: