Headline • पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी गिरफ्तार • 90 बीघे जमीन के लिए चली अंधाधुंध गोलियां, बिछ गई लाशें• धौनी के माता-पिता भी चाहते है कि वो अब क्रिकेट से संन्यास ले• चंद्रयान-2 की आयी डेट; 22 जुलाई को होगा लॅान्च • कुलभूषण जाधव केस : 1 रुपये वाले साल्वे ने पाकिस्तान के 20 करोडं रुपये वाले वकील को दी मात • कांग्रेस को नहीं मिल पा रहा नया अध्यक्ष , किसी भी नाम को लेकर सहमति नहीं• पाकिस्तान में मुंबई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद गिरफतार • सावन मास के साथ शुरू हुई कांवड़ यात्रा• एपल भारत में जल्द शुरू करेगी i-phone की मैन्युफैक्चरिंग, सस्ते हो सकते हैं आईफोन• डोंगरी में इमारत गिरने से अबतक 16 लोगो की मौत, 40 से ज्यादा लोगो के मलबे में दबे होने की आशंका : दूसरे दिन भी रेस्क्यू जारी• मुंबई के डोंगरी में 4 मंजिला इमारत गिरी; 2 की मौत, 50 से ज्यादा लोगो के मलबे में फसे होने की आशंका• IAS टोपर को किया ट्रोल, मिला करारा जवाब • देर रात देखिये चंद्रग्रहण का नजारा, लाल नज़र आएगा चाँद • बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत के लिए खोले बंद हवाई क्षेत्र ।• महिला सांसदों पर किये गए टिपण्णी से घिरे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प• सुप्रीम कोर्ट ने की आसाराम की जमानत याचिका खारिज • धोनी को संन्यास देने की तयारी में है चयनकर्ता, बहुत जल्द कर सकते है फैसला • तकनीकी कारणों की वजह से 56 मिनट पहले रोकी गयी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग, इसरो ने कहा - जल्द नई तरीक करेंगे तय • भविष्य के टकराव ज्यादा घातक और कल्पना से परे होंगे : सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत • इसरो के चेयरमैन ने बताई चंद्रयान-2 मिशन के लांच होने की तरीक, चाँद पर पहुंचने में लगेगा 2 महीने का समय • झाऱखंड के स्वास्थ मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी का रिशवत लेते वीडीयो वायरल, पुलिस ने की FIR दर्ज • राफेल भारत के लिए रणनीतिक तौर पर बेहद अहम साबित होगी : एयर मार्शल भदौरिया• उत्तराखंड : विधायक प्रणव सिंह चैंपियन BJP से बहार • चारा घोटाला मामले में लालू को मिली जमानत• आइटी पेशेवरों के लिए अमेरिका से अच्छी खबर


उत्तर प्रदेश में...बच्चों को ऐसे नकल करवाई जा रही है परीक्षाओं में...जैसे ये उनका जन्मसिद्ध अधिकार हो...कोई खिड़की से लटककर...कोई छत पर चढ़कर...कोई खेत से भागकर...कोई मैदान में दौड़कर...विद्यार्थियों तक चिट पहुंचा रहा है...

नकल ने हमेशा से अकल पर ही चोट की है...बावजूद इसके नकल करवाने के लिए...विद्यार्थियों के अभिभावक...स्पाइडर मैन बनने से भी चूक नहीं रहे हैं...

एक-दूसरे से ज्यादा ईमानदार दिखने की होड़...इस स्थान तक आते-आते दम तोड़ देती है...परीक्षा में नकल को कोई अभिभावक अगर अपराध नहीं माने...तो ये सिर्फ सवाल ही नहीं है...सच है...उस भविष्य की जिसकी तस्वीर सुनहरी तो कहीं से नहीं....स्याह जरूर है...

हो सकता है...इस तस्वीर को देखकर आप पहले हंसें...लेकिन यकीन मानिए...हंसते-हंसते रोने लगेंगे आप...रोज़-रोज़ नए-नए तरीके सामने आते हैं...नकल में अकल लगाने वालों के...

ये हर कोई जानता है कि...नकल करना गलत है...लेकिन यह है बहुत आसान...क्योंकि जब अभिभावक ही बच्चों को चोरी करवाने पर उतारु हो और प्रशासन लाचार तो...फिर दिक्कत ही क्या है और कहां है...

लाख कोशिशों के बाद भी...सरकार इस पर रोक नहीं लगा पा रही है उत्तर प्रदेश में...इसलिए सवाल तो सरकार से भी है...लेकिन जवाब देगा कौन...इधर मेहनत करने वाले छात्रों के लिए नकल करने वाले...स्पीड ब्रेकर की तरह होते हैं...

वैसे भी सचमुच की समझदारी...बगैर मेहनत हासिल तो नहीं ही की जा सकती...और अगर कोई मेहनत करे तो...नकल की क्या जरूरत...जिसे सामाजिक मान्यता तो कतई नहीं...मिलनी चाहिए...

फिलहाल उत्तर प्रदेश में...अपने-अपने गार्जियन के भरोसे ही...परीक्षार्थी अपने हूनर का कमाल दिखा रहे हैं...इस देश में हर साल अनेकों परीक्षाएं होती है...सूई में धागे डालने से लेकर...दसवीं, बारहवीं, ग्रेजुएशन, मास्टर तक के...लेकिन नकल की जो ये कवायद है...रघुकुल रीत सदा चली आई...टाइप से उस पर रोक लगाना जरूरी है...वरना...दसवीं-बारहवीं की परीक्षा हमेशा पारिवारिक प्रयास बनकर रह जाएगी...

लेखक- आकाश वत्स

 

संबंधित समाचार

:
:
: