Headline • आपके पैसों से साफ होता है पेट्रोल पंप का टॉयलेट, कस्टमर से ऐसे ली जाती है मनी• नंदन नीलेकणि के समर्थन में इंफोसिस में उठ रही मांग, CEO पद देने की हो रही वकालत • राइट टू प्राइवेसी पर आज आएगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला • यौन शोषण केस में आज राम-रहीम की पेशी, 2 दिन स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी • 4 साल की मासूम की पिता ने ली जान, अंतिम सांस तक जमीन पर पटकता रहा • जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में जीतने के बाद भी बीजेपी का विखराव आया सामने• यूपी में नहीं है कानून का खौफ़,दिन दहाड़े बीच सड़क पर युवक ने तलवार से काटे लड़की के हाथ• अजय राज शर्मा की आलोचना करने वाले देखें यूपी में ये क्या हो रहा है• 'UP में जाटव, यादव समेत इन जातियों का आरक्षण कोटा कम करेगी योगी सरकार'• ऐसे पड़ गए थे शिखर दो बच्चों की मां के प्रेम में, देखें दोनों की लाजवाब तस्वीरें• रेलमंत्री ने पेश किया अपना इस्तीफा, पीएम ने कहा, इंतजार करो• पाकिस्तान पर हमला करेगा अमेरिका, कहा- 'चुन-चुन कर आतंकियों का करेंगे सफाया'• बार-बार गलतियां करने वाला चीन भारत पर लगा रहा आरोप, कहा- 'डोकलाम हमारा गैरविवादित इलाका' • PAK पर अमेरिका का बड़ा खुलासा, भारता का बहाना बनाकर आतंकी संगठनों को करता है मदद• सितंबर के पहले हफ्ते में बाजार में आएगा 200 रुपए का नोट• Forbes List: सलमान से ज्यादा कमाई करते हैं शाहरुख खान, अक्षय कुमार भी लिस्ट में शामिल • अपने बारे में शर्मनाक कमेंट्स के कारण बीजेपी महिला उपाध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, देखें दर्द झलकता पत्र• रणवीर की गोद में क्या कर रही थीं दीपिका, वायरल हुआ ये VIDEO• बड़ी खबर: ट्रेन हादसों की वजह से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने दिया इस्तीफा• जानें कैसे और घट सकता है आपके मोबाइल फोन का बिल• शिक्षा मित्रों ने शुरू किया जेल भरो आंदोलन, कहा- 'सरकार को अन्याय करने नहीं देंगे'• मालेगांव ब्लास्ट 2008: नौ साल बाद जेल से बाहर आए कर्नल पुरोहित• पापा के बर्थ डे पर भावुक हुईं प्रियंका चोपड़ा, लिखा-ये इमोशनल मैसेज• बाजार में जल्द आएंगे 200 और 50 रुपए के नोट !• सलमान और शाहरुख के बारे में ये क्या कह गए आमिर

देश से छुआछूत मिटाने के नाम पर RTI का बड़ा खुलासा

मुरादाबाद- देश से छुआछूत मिटाने के नाम पर केंद्र सरकार ने पानी की तरह पैसा बहाया है। इसके बावजूद भी समाज में अभिशाप बनी यह सामाजिक कुरीतियां ग्रामीण अंचल में अभी खत्म तो नहीं हुई लेकिन जनता का अरबो रुपया इस भेदभाव को खत्म करने के नाम पर खर्च हो गया है। चालू वित्तीय वर्ष के जुलाई माह तक केंद्र सरकार राज्यों को पांच हजार लाख रुपए से अधिक अवमुक्त कर चुकी है। इसमें उत्तर प्रदेश को सबसे ज्यादा ग्यारह सौ लाख रुपए मिले हैं। उत्तर प्रदेश ही नहीं महाराष्ट्र ,मध्य प्रदेश ,राजिस्थान और गुजरात को भी इस भेदभाव को मिटाने के लिए खूब बजट दिया गया। जबकि झारखंड ,उतराखंड ,असम ,पश्चिम बंगाल ,दिल्ली यह कुछ ऐसे राज्य हैं, जहाँ इन चैदह सालों में कुछ लाख रुपए ही दिए गए।

मुरादाबाद निवासी पवन अग्रवाल नामक आरटीआई कार्यकर्ता ने यह खुलासा बढ़ा किया हैं जिन्होंने इसी साल जुलाई 2014 को प्रधानमन्त्री कार्यालय से एक आरटीआई मांगी थी, जिसमे पूछा गया था, कि देश में छुआछूत मिटाने के नाम पिछले चैदह साल में राज्यों और ,नजीओ को वर्षवार कितने रुपए दिए गए तो प्रधानमन्त्री कार्यालय से जो जवाब मिला वह चैकाने वाला था, आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश को इस अवधि में दस हजार लाख रुपए से भी अधिक की धनराशि आवंटित की गई है, इसके बावजूद उत्तर प्रदेश के हजारो गांव ऐसे हैं, जहाँ न तो अभी छुआछूत मिटी और न ही भेदभाव का अंत हुआ।

दरअसल में केंद्र सरकार प्रदेश की सरकारों को यह धन आवंटित करती है। इस धन को फिर जिलों में बांटा जाता है जिन जगहों पर भेदभाव के मामले ज्यादा मिलते हैं, इन्ही हिसाब से धनराशि मिलती है। अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो पूर्वांचल ,बुन्देलखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों गांव ऐसे हैं, जहाँ अभी भी छुआछूत मौजूद है, जात-पात के नाम पर भेदभाव अभी भी जारी है।

वहीं आरटीआई क्टिविट पवन अग्रवाल का कहना है कि, सरकार ने छुआछूत मिटाने के लिए पैसा तो खूब खर्च किया, लेकिन जिस राज्य को पैसे की ज्यादा जरुरत थी, वहां पैसा सबसे कम दिया गया और वहां गलत तरीके से पैसे को आवंटित करके पैसे का दुरुपयोग किया गया है।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: