Headline • CM योगी के मंच पर दिखे अमनमणि त्रिपाठी, पत्नी की हत्या के केस में आरोपी • BJP विधायक के बेतुके बोल- 'मोबइल यूज करने से घर छोड़कर गलत हाथों में चली जाती हैं लड़कियां'• पहली बार लंदन से चीन पहुंची डॉयरेक्ट ट्रेन, सफल हुआ 'वन बेल्ट वन रोड' पॉलिसी • कच्ची शराब फैक्ट्री का भाण्डाफोड़, पुलिस ने नष्ट की कई भट्टियां• ईवीएम पर सवाल उठाने वालों को जनता ने दिया जवाब, EVM का मतलब है 'एवरी वोट मोदी': CM योगी• पति दहेज में मांगता था मोटरसाइकल, नहीं मिली तो पत्नी के साथ किया ये...• फार्मूला ई रेसिंग कार चलाने वाली पहली भारतीय महिला बनी ये एक्ट्रेस • कमाई में सलमान- आमिर को भी बाहुबली ने छोड़ा पीछे, पहले दिन ही आया 201 करोड़   • शहीद कैप्टन आयुष पंचतत्व में हुए विलीन, अंतिम यात्रा में उमड़ा शहर, रो पड़ी हर आंख• तीन तलाक पर बोलें पीएम मोदी- 'इस मुद्दे को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखें' • विवाह समारोह में पसरा मातम का सन्नाटा, 9 की मौत 15 घायल• प्राइवेट प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टर सुधर जाए, नहीं तो होगी बड़ी कार्रवाई: सिद्दार्थनाथ सिंह • परेशान था प्रेमी जोड़ा, पुलिस वाले बनें बाराती, थाने में हुई शादी• स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक पर दिया विवादित बयान, कहा- हवस पूरी करने के लिए बदलते हैं बीवियां• गायत्री प्रजापति को बेल देने वाले जज ओपी मिश्रा हुए सस्पेंड, 30 अप्रैल को होने जा रहे है रिटायर • इस DM के विदाई पर रो पड़े अधिकारी- कर्मचारी, कार्यों के साथ मिला सम्मान • बल्ड कैंसर से जुझ रहे जवान की मदद के लिए आगे आई सेना • योगी की राह पर चले केजरीवाल, रद्द होंगी महापुरुषों के जन्म और निर्वाण दिवस की छुट्टियां• गाजियाबाद में पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट, 5 की मौत• पेट्रोल पंप पर STF की छापेमारी, चिप लगाकर पेट्रोल की हो रही थी चोरी• इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों का हंगामा, हॉस्टल खाली कराए जाने को लेकर बढ़ा विवाद• कांग्रेस जैसी हो गई है आप की हालत: कुमार विश्वास• पहले पत्थरबाजी बंद हो तब पैलेट गन बंद करने को कहेंगे: सुप्रीम कोर्ट• पुलिस वालों के लिए धरने पर बैठे 'अर्थी बाबा'• सीएम योगी आदित्यनाथ ने की शहीद कैप्टन के परिजनों को 30 लाख की मदद की घोषणा
उत्तर प्रदेश का एक और अस्पताल बना मैरेज हॉल, मरीज बेहाल

इटावा- चौतरफा आलोचनाओं के बावजूद उत्तर प्रदेश में सरकारी अस्पताल प्रशासन सुधरने को तैयार नहीं और बड़ी ही बेशर्मी से मैरेज हॉल में तब्दील हो रहें हैं। इन दिनो सूबे के अस्पतालों में बैंड बाजा और बारात का चलन शुरू हो गया है।

कुछ ही दिनों पहले बुलंदशहर के अस्पताल में ऐसी घटना सामने आई थी जब कर्मचारी अस्पताल के अंदर ही बैंड और बाजा की धूम पर जमकर थिरकते नजर आए थे। अब इस बार फिर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के गृह जिले इटावा के एक अस्पताल में ढ़ोल-नगारे बजे और शादी हुई।

अस्पताल कर्मियों ने एक बार भी मरीजों की हालत के बारे में नहीं सोचा और शोर-शराबे के बीच नाचने गाने में लगे रहे।

घटना सैफई पीजीआई अस्पताल की है। अस्पताल में ही स्थित मंदिर के पुजारी की बेटी की शादी थी। लेकिन उसे गेस्ट हाउस नहीं मिल सका और बस फिर क्या अधिकारियों ने अस्पताल को ही बारातियों के लिए खोल दिया। अस्पताल परिसर में ही शादी का मंडप सज़ा लिया गया। डीजे की भी व्यवस्था की गई।

इस समारोह में हो रहे शोर शराबे से ना सिर्फ अस्पताल में भर्ती मरीज बल्कि उनके साथ परिजन भी काफी परेशान रहें।

देखें वीडियो में....

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 
  • samachar plus
  • live-tv-uttrakhand
  • live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: