Headline • दबाव झेल रहे चीन ने पहली बार माना मुंबई हमले को सबसे कुख्यात आतंकवादी हमला• CRPF के जवानों पर नक्‍सलियों का हमला मुठभेड़ में एक जवान शहीद • गोवा के नए सीएम बने प्रमोद सावंत• टोटल धमाल'की छपर फाड कमाई अभिताभ बच्चन की 'बदला' भी टक्कर में • न्यूजीलैंड की मस्जिदों के हमलावर को कोर्ट में किया पेश • मनोहर पर्रिकर के निधन के कुछ घंटों बाद ही गोवा में सियासी घमासान तेज• भारतीय वनडे टीम से बाहर होने पर आर अश्विन की नाराजगी• इस बार भी वर्ल्‍ड कप से पहले सीरीज हारना क्‍या रहेगा टीम इंडिया के लिए लकी• 17 साल बाद चीन को लगा बड़ा झटका आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर• एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान के साथ साथ भारत के भी कु़छ नेता परेशान: राजनाथ सिंह• कंगना रनौत की नाराजगी पर आमिर खान ने दिया बयान• सुप्रीम कोर्ट ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मे क्रिकेटर श्रीसंत को दी राहत • न्यूजीलैंड की मस्जिदों में ताबातोड़ फायरिंग 40 की मौत 27 घायल • UNSC में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में चीन ने लगाया वीटो • SC ने शुरू की राफेल मामले पर सुनवाई• कुनबा बढ़ाने की रणनीति से सहमी कांग्रेस, नेताओं को दी चुप्पी साधने की हिदायत • आजम खान के खिलाफ योगी सरकार की बड़ी कार्यवाही • 15 मार्च से शुरू टेस्ट मैच की तयारी में लगी अफगानिस्तान आयरलैंड की टीम• लोकसभा चुनावों में लगी आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालन• आजादी के बाद आज भी ब्रिटिश काल की पेयजल पम्पिंग योजना पर निर्भर• बीजेपी सांसद के बगावती तेवर • कांग्रेस पर चढ़ा सपा- बसपा गठबन्धन के रिश्तों का रंग • भारत के सबसे बड़े नेटवर्क बीएसएनएल कंपनी पर संकट के बादल• कोलंबिया में विमान दुर्घटना में 12 लोगों की मौत • रमजान के दौरान मतदान पर चुनाव आयोग का जवाब


बाराबंकी. यूपी के बाराबंकी में महिला सिपाही ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला सिपाही का एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें अधिकारियों पर प्रताड़ना के आरोप लगाए है। सुसाइड नोट सामने आने से पुलिस महकमे में हडकंप मच गया और इस मामले में SHO व मुंशी को लाइन हाजिर कर दिया गया है। वहीं मामले की जांच ASP दक्षिणी को सौंपी गई है। 

-जानकारी के मुताबिक, हरदोई की रहने वाली महिला सिपाही मोनिका रावत हैदरगढ़ कोतवाली में तैनात थी। 

-वह यहां किराए पर रहती थी। रविवार को जब महिला सिपाही का फोन नहीं मिला तो पड़ोस में रहने वाला दूसरा सिपाही उसे खोजते हुए घर पर आया। 

-उसने कई बार दरवाजा खटखटाया लेकिन मोनिका ने कमरा नहीं खोला, इसके बाद सिपाही ने धक्का मारा तो दरवाजा खुल गया।

-कमरे के अंदर मोनिका का शव पंखे में रस्सी के फंदे पर लटका हुआ था। सिपाही ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। 

-सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंची और मोनिका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथी ही महिला सिपाही के परिजनों को मामले की सूचना दी। 

-बताया जा रहा है कि महिला सिपाही ने अनुज नाम के एक शख्स को सुसाइड नोट व्हाट्सएप किया था। जिसमें सिपाही ने SHO परशुराम ओझा और मुंशी रुखसार अहमद पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। जिसके बाद एसपी ने एसएचओ और मुंशी को लाइन हाजिर कर दिया। 

 

क्या लिखा सुसाइड नोट में 

"मैं मोनिका थाना हैदरगढ़ बाराबंकी में आरक्षी के पद पर तैनात हूं, मैं कार्यालय में सीसीटीएनएस पर कार्यरत होने के बावजूद भी बार-बार बाहर ड्यूटी लगाकर टार्चर किया जाता है, जबकि बाकी CCTNS पर कार्यरत लोगों की कही बाहर ड्यूटी नहीं लगती है, इस डिपार्टमेंट में अगर कुछ खुद के साथ गलत हो रहा है तो उसका विरोध करना गुनाह है जो भी हो रहा है चुपचाप सहते जाओं तब ही शायद सभी खुश रहते हैं, जब मैंने इस चीज का विरोध किया तो कार्यालय में मौजूद  तैनात कांस्टेबल मोहर्रिर रुखसार अहमद व एसएचओ परशुराम ओझा द्वारा मुझे प्रताड़ित किया जाने लगा। मेरी गैरहाजिरी की रपट भी लिख दी। 29 सितंबर को जब मैं छुट्टी का प्रार्थना पत्र लेकर एसएचओ परशुराम ओझा के पास गई तो उन्होंने रजिस्टर फेंक दिया और कहा कि मैं छुट्टी नहीं दूंगा, सीओ से जाकर मिलो। छुट्टी अधिकार होता है उसके लिए भी अगर उच्चाधिकारियों के सामने भीख मांगने पड़े तो यह ठीक नहीं है। आखिर कब तक यह सब कर्मचारियों को झेलना पड़ेगा, अगर शायद आज छुट्टी दी गई होती तो यह कदम नहीं उठाना पड़ता और आज नहीं रोना व परेशान होना पड़ता। Sorry मम्मी-पापा जो भी आप लोगों के साथ किया, हो सके तो मुझे माफ कर देना Sorry'

 

संबंधित समाचार

:
:
: