Headline • रेल मंत्री का बड़ा ऐलान, कहा- रेलवे में नहीं चलेंगे ऐसे इंजन• 118 अंक चढ़कर 33478 पर बंद हुआ सेंसेक्स• 8 वीं क्लास में फेल हुआ था ये शख्स, यूं बना करोड़ों का मालिक• बीजेपी ने किया पलटवार, मुलायम अगर इतने बड़े कृष्णभक्त है तो मथुरा में जवाहरबाग कांड क्यों हो गया• जबरन खेलने के लिए क्रिकेटर पर नहीं बनाया जाए दबाव- कपिल• अखिलेश बोले, बीजेपी अफीम की पुड़िया है, इससे बचकर रहना, ये शब्दों और धर्म के माफिया हैं• दूसरे टेस्ट में नहीं दिखेंगे भारतीय टीम के 2 दिग्गज खिलाड़ी, जानें वजह• हमेशा मदद करने वाले सौरव गांगुली ने हरभजन सिंह से क्यों मांगी माफी• उधार का पैसा मांगने पर की गई आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या• इवांका ट्रम्प की सिक्युरिटी पर संदेह, US को हमले का डर• भारत के लिए PAK जनरल के खिलाफ चीन ने दिया बयान• प्रद्युम्न हत्याकांड: कोर्ट ने आरोपी बस कडंक्टर अशोक को दी जमानत• 10वीं बार आरजेडी अध्यक्ष बने लालू यादव, तेजस्वी बोले-'नीतीश कुमार जी Chief Minister नहीं...'• NK पर डोनाल्ड ट्रम्प ने उतारा गुस्सा, कहा- 'आतंकवाद का सपोर्टर है ये देश'• बीजेपी के 'राम' के बाद अब समाजवादी पार्टी के 'कृष्ण', मुलायम ने कहा, कृष्ण को मानने वाले ज्यादा• पद्मावती को लेकर बोले आजम खान- 'जो अंग्रेजों के बस्ते उठाते थे वो आज फिल्म का विरोध कर रहे हैं'• 50 सदस्यीय जापानी दल ने हिन्दू रीति रिवाज से वाराणसी में किया पिंडदान, हिन्दू धर्म को बताया...• इलाहाबाद हाईकोर्ट में जस्टिस गोविन्द माथुर ने न्यायमूर्ति पद की शपथ ली• बीजेपी के पूर्व मंत्री संजीव बालियान का विवादित बयान, बोले- 'अगर बीजेपी को वोट नहीं दिया तो शिव मंदिर में घंटा...'• पद्मावती विवाद:CM योगी ने कहा-'भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने वालों पर हो कार्रवाई'• शौचालय के लिए डीएम चला रहे हैं फावड़ा, एसपी ने चेताया, खुले में शौच करने वाले जाएंगे जेल• छोटी बच्ची के लिए राजनाथ सिंह बने टीचर ,चाय की दुकान पर बैठकर दिया आटोग्राफ, पीएम मोदी भी दे चुके हैं आटोग्राफ• फर्रुखाबाद के इस बाबा के आश्रम में चलता रहा है डर्टी गेम, पुलिस ने छापा मारा तो बाबा फरार• पद्मावती विवाद : बीजेपी नेता ने दीपिका और भंसाली के सिर पर रखा था 10 करोड़ का इनाम, अब...• कोतवाली की हवालात में फंदा लगाकर दी थी जान,  अब मामले में व्यापारी के खिलाफ हत्या का मुकदमा 

यहां लावारिस लाशों को कंधा देती है महिलाएं, 5 हजार शवों का करा चुकी अंतिम संस्कार

कानपुर. किसी की मौत होने पर अक्सर उसकी लाश को पुरूष कंधा देते हैं। अंतिम संस्कार की रस्में भी पुरुष करते हैं। लेकिन, सोमवार को कानपुर में महिलाएं लाश को कंधा देती दिखी। हर कोई सड़क से गुजरती इन महिलाओं को देख चौक गया। बड़ी संख्या में महिलाएं लाशों को कंधा देने के लिए जुटी थी।

 

लावारिश लाशों का किया जाता है अंतिम संस्कार

- बता दें कि जिन लाशों को महिलाएं कंधा देती है। उनका अपना कोई नहीं होता है। उनकी बॉडी पर कोई हक भी नहीं जताता है।

- महिलाओं के मुताबिक वे लोगों की सोच को बदलने के लिए ऐसा कर रही हैं।

- उन्होंने कहा कि लावारिश लाश को देखनेवाला कोई नहीं होता है। सरकार की ओर से भी कोई ध्यान नहीं दिया जाता है।

- जिन लोगों का अपना कोई नहीं होता है। उनकी मौत के बाद अंतिम संस्कार किया जाता है।

- यहां की महिलाएं ट्रेडिशन के अनुसार अंतिम संस्कार करती हैं। बड़ी संख्या में फूलों को भी मंगाया जाता है।

- अब तक करीब 5 हजार शवों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है। इस कैंपेन में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल होती हैं।

महिलाओं को मिले सभी अधिकार

- लावारिस लाशों को कंधा देने वाली महिलाओं का कहना है कि उन्हें सभी तरह के अधिकारों की जरूरत है।

- उन्होंने बताया कि कंधा देने का काम केवल पुरुषों का नहीं है। महिलाएं भी इसे कर सकती है।

- हालांकि, लावारिस लाशों के अंतिम संस्कार में पुरूष भी सहयोग करते हैं। वे भी महिलाओं का उत्साह बढ़ा रहे हैं।

  

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: