Headline • होटल में युवती के साथ रेप, भागकर पहुंची मंदिर, फिर...• एक्शन में त्रिवेन्द्र रावत, NH घोटाले का किया पर्दाफाश, सात अधिकारी निलंबित• विकास सबका होगा, तुष्टीकरण किसी का नहीं होगा : CM योगी• PM ने की गुजरात और राजस्थान के सांसदों के साथ बैठक, कहा- चुनाव के लिए तैयार रहें• सपा सरकार में अवैध मांस खाते थे अखिलेश के 'शेर', अब तक हो चुकी है 10 की मौत• बैन किए गए पुराने नोटों को इस दिन तक करा सकते है जमा, जानें क्या है नियम • लाखों रुपये की नकदी के साथ पांच डकैत गिरफ्तार• इस फेमस एक्ट्रेस ने प्रोड्यूसर पर लगाया सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप• इस पाकिस्तानी लड़की को पसंद है योगी, कहा- 'अब होगा UP का विकास'• योगी सरकार का चला डंडा, अनुशासनहीनता के मामले में IPS हिमांशु कुमार सस्पेंड• यूपी में हर तरह के अवैध कार्य बंद होने चाहिए: मोहम्मद कैफ • भगवा रंग में रंगा गोरखपुर, CM बनने के बाद आज पहली बार गोरखपुर जाएंगे योगी • शिया धर्मगुरु नई सरकार को लेकर बोले-जो जुल्म हमारे कौम पर पिछली सरकार में हुआ वह इस सरकार में नहीं होगा • FIR दर्ज होने के बाद फराह खान के पति ने बिना शर्त मांगी माफी, CM योगी पर किए थे टिप्पणी • अस्पताल में लगी आग, ICU में भर्ती मरीज सड़क पर तडपते रहे• एसिड अटैक पीड़िता के वार्ड में ली सेल्फी, 3 महिला पुलिसकर्मी सस्पेंड • बिजली विभाग के लेखाकार ने मांगी रिश्वत, रंगे हाथ गिरफ्तार• अपने से चार साल बड़ी लड़की के बच्चे का पिता बना यह 14 साल का लड़का, जानें दोनों में क्या है संबंध• एक्शन मोड में योगी सरकार : गंदगी देख भड़के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत, दफ्तर में लगाई झाड़ू• योगी का 'स्वच्छ UP अभियान' : झाड़ू लेकर थानों की सफाई में जुटे पुलिसकर्मी• DM शुभ्रा सक्सेना ने दफ्तर में यूं लगाई झाडू, कर्मचारी से अफसर तक को दिलाई शपथ • 100 करोड़ के क्लब में शामिल हुई 'बद्रीनाथ की दुल्हनिया', एक्ट्रेस आलिया ने कहा... • 'हम जिहादी हैं, दिल्ली पहुंच चुके हैं, बचा सको तो बचा लो'• सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं यूपी के अफसर, बदला निजाम, ताज फेस्ट में चलता रहा अखिलेश का ऐड• कालेधन वालों पर आयकर विभाग की कड़ी नजर, 31 मार्च के बाद 137.25% तक लगेगा टैक्स
यहां लावारिस लाशों को कंधा देती है महिलाएं, 5 हजार शवों का करा चुकी अंतिम संस्कार

कानपुर. किसी की मौत होने पर अक्सर उसकी लाश को पुरूष कंधा देते हैं। अंतिम संस्कार की रस्में भी पुरुष करते हैं। लेकिन, सोमवार को कानपुर में महिलाएं लाश को कंधा देती दिखी। हर कोई सड़क से गुजरती इन महिलाओं को देख चौक गया। बड़ी संख्या में महिलाएं लाशों को कंधा देने के लिए जुटी थी।

 

लावारिश लाशों का किया जाता है अंतिम संस्कार

- बता दें कि जिन लाशों को महिलाएं कंधा देती है। उनका अपना कोई नहीं होता है। उनकी बॉडी पर कोई हक भी नहीं जताता है।

- महिलाओं के मुताबिक वे लोगों की सोच को बदलने के लिए ऐसा कर रही हैं।

- उन्होंने कहा कि लावारिश लाश को देखनेवाला कोई नहीं होता है। सरकार की ओर से भी कोई ध्यान नहीं दिया जाता है।

- जिन लोगों का अपना कोई नहीं होता है। उनकी मौत के बाद अंतिम संस्कार किया जाता है।

- यहां की महिलाएं ट्रेडिशन के अनुसार अंतिम संस्कार करती हैं। बड़ी संख्या में फूलों को भी मंगाया जाता है।

- अब तक करीब 5 हजार शवों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है। इस कैंपेन में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल होती हैं।

महिलाओं को मिले सभी अधिकार

- लावारिस लाशों को कंधा देने वाली महिलाओं का कहना है कि उन्हें सभी तरह के अधिकारों की जरूरत है।

- उन्होंने बताया कि कंधा देने का काम केवल पुरुषों का नहीं है। महिलाएं भी इसे कर सकती है।

- हालांकि, लावारिस लाशों के अंतिम संस्कार में पुरूष भी सहयोग करते हैं। वे भी महिलाओं का उत्साह बढ़ा रहे हैं।

  

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 
  • samachar plus
  • live-tv-uttrakhand
  • live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: