Headline • फैसिलिटी नहीं सैलरी के मामले में भी प्राइवेट बैंकों से पीछे SBI, जानें कितने का है अंतर ?• रामनाथ कोविंद से मिलने लालबत्ती गाड़ी से पहुंचे बीजेपी MLA; जवाब सुन हैरान रह जाएंगे आप!• हरियाणा की बेटी मानुषी छिल्लर ने जीता मिस इंडिया 2017 का खिताब, देखें PHOTOS• व्हाइट हाउस में पीएम का स्वागत करेंगे ट्रंप, साथ में डिनर करने वाले पहले लीडर होंगे मोदी• IND vs WI: इंडिया ने वेस्टइंडीज को हरा बनाया यह विश्व रिकॉर्ड, UP के कुलदीप ने लिए 3 विकेट • कश्मीर में नमाज के बाद जवानों पर पत्थरबाजी, दिखाए गए पाक के झंडे• फतेहपुर में जमीन विवाद को लेकर भाई ने मारी भाई को गोली, काफी समय से चल रहा था केस• योगी जी,जरा इधर भी देखें; कर्ज से परेशान किसान ने लगाई फांसी• शहीद की फैमिली से CM योगी ने की बात, अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब• ईद का कपड़े लेने गए थे 4 दोस्त, सड़क हादसे में हुई मौत • FB पर लड़की की फेक आईडी बनाकर अश्लील पिक पोस्ट करने की दे रहा धमकी ,एडिटिंग कर भेजी...• ईद पर काली पट्टी बांधकर पढ़ रहें नमाज, जानें क्या है वजह • रामनाथ कोविंद ने मांगा UP से समर्थन, सीएम योगी बोले- समाजिक न्याय की लड़ाई की जीत • गांव के ही युवक ने 7 साल के मासूम बच्चे को पहले घर के पीछे ले गया, फिर किया...• महाराष्ट्र की ये महिला गैंग टेम्पो यात्रियों को बनाती है अपना शिकार, महिला पुलिस के पर्स से की हजारों रुपए पार • अब आप IRCTC से "उधार" में बुक कर सकेंगे टिकट, ये है नियम • कैटरीन ने माल्टा में "ठग्स ऑफ हिंदोस्तान" के सेट से शेयर की PHOTO • पाकिस्तान में तेल से भरे टैंकर पलटने से हुआ विस्फोट, 127 की जलकर मौत• चीन के चैन लांग को हरा 2 सुपरसीरीज जीतने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बने श्रीकांत • राजस्थान का आतंक आनंदपाल सिंह पुलिस मुठभेंड़ में हुआ ढ़ेर, 5 राज्यों की पुलिस को थी तलाश• सीतापुर में घर में सो रहे दंपत्ति को अज्ञात बदमाशों ने गला रेत की हत्या, मौके पर पहुंची पुलिस • मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने की UP के इस गांव की तारीफ, बोले- स्वच्छता एक आंदोलन बन गया है • साहब' के शहीद होने की खबर सुन रो पड़ा गांव, पत्नी बोली- अभिभावक है सीएम योगी, उनके आने के बाद ही होगा अंतिम संस्कार • सिरफिरे आशिक ने पहले लड़की पर किया चाकू से वार, फिर खुद को चाकू से गोंदा, हुई मौत • श्रीनगर के पंथा चौक पर आतंकियों ने CRPF के काफिले पर बरसाई गोलियां, हमले में दारोगा शहीद, 2 जवान घायल 
सपा में सुलह की 8वीं कोशिश, अखिलेश-मुलायम के बीच बैठक जारी

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में चल रहे वि‍वादों के बीच चुनाव आयोग में 'साइकिल' पर अपना दावा जताकर लौटे मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को कहा कि अगले चुनाव में अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे। हालांकि उन्होंने इस बात का जवाब नही दिया कि पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष की भूमिका कौन निभायेगा। साथ ही प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न देने वाले फार्म पर किसके हस्ताक्षर दिखाई देंगे।माना जा रहा हैं इन सभी सवालों पर मंगलवार को अखिलेश के साथ होने वाली बैठक में चर्चा की जायेगी। बता दें कि सोमवार शाम दि‍ल्‍ली से लखनऊ लौटे मुलायम सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि "समाजवादी पार्टी एक ही है। चुनाव के बाद अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसमें कोई कन्‍फ्यूजन नहीं है। समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी। 

अब तक सुलह की 7 कोशिशें हो चुकी है नाकाम

 

-आपको बता दें कि सुलह की पहली कोशिश 31 दि‍संबर 2016 को की गई। जब मुलायम के साथ हुई मीटिंग में अखिलेश ने अपनी 4 शर्तें रखी थीं।

-जिसमें पहली शर्त में अखिलेश ने अमर सिंह को पार्टी से बर्खास्त करने के लिए कहा था।

-दूसरी शर्त में अखिलेश ने कहा कि शिवपाल यादव को राष्ट्रीय राजनीति में भेजा जाए।

-तीसरी शर्त में कहा गया कि टिकट बंटवारा मुलायम और अखिलेश की सहमति से हो। इसमें किसी तीसरे की दखलंदाजी न हो।

-चौथी शर्त में मांग की गई कि टीम अखिलेश के बर्खास्त लोगों को भी पार्टी में वापस लिया जाए।

-हालांकि अखिलेश की ये सभी शर्तें नहीं मानी गईं।

-जबकि सुलह की दूसरी कोशिश 2 जनवरी को की गई। जब सपा के सिंबल पर दावेदारी के लि‍ए शि‍वपाल और अमर सिंह के साथ मुलायम चुनाव आयोग पहुंचे।

-3 जनवरी को अपनी तीसरी सुलह की कोशिश के चलते अखि‍लेश यादव ने मुलायम सिंह के घर पर जाकर मुलाकात की, पर बात नहीं बनी। 

-बता दें कि 4 जनवरी को हुई अपनी चौथी सुलह की कोशिश में आजम के साथ मुलायम की 5 घंटे तक बातचीत हुई, लेकि‍न फिर भी कोई समझौता नहीं हो सका। 

- लेकिन पांचवी बार ये कोशिश 5 जनवरी को की गई। जब देर रात तक करीब 4 घंटे मुलायम, शि‍वपाल और अमर सिंह के बीच दि‍ल्‍ली में बातचीत हुई। 

- 6 जनवरी को छठी बार सुबह अखि‍लेश यादव से शि‍वपाल और अमर ने मुलाकात की।लेकिन कोई फैसला नही हो पाया।

- सातवीं बार 8 जनवरी रविवार की सुबह अखिलेश ने मुलायम को फोन किया था। मुलायम ने अखिलेश के सामने दो शर्तें रखीं थीं। पहली की वे नेशनल प्रेसिडेंट बने रहेंगे और दूसरी शिवपाल प्रदेश अध्‍यक्ष बने रहेंगे। सूत्रों के अनुसार ये दोनों ही शर्तें अखिलेश ने नहीं मानी थी।

- बहरहाल आज आठंवी बार 10 जनवरी को अखिलेश एक बार फिर मुलायम के घर उनसे मिलने पहुंचे हैं।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: