Headline • GST काउंसिल की बैठक में 29 चीजों पर रेट की गई शून्य, रिएल एस्टेट, पेट्रोल-डीजल पर कोई फैसला नहीं• अब व्हाट्सएप से करिए मनी ट्रांसफर, फरवरी में  लाइव हो सकता है फीचर• अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर हत्याकांड का खुलासा, वीडियो का बदला लेने के लिए प्रेमिका ने ही की थी हत्या• पाकिस्तान के लिए अच्छी खबर, सुरक्षा सहायता पैकेज पर रोक के बावजूद सैन्य प्रशिक्षण जारी रखेगा अमेरिका• अखिलेश ने फिर साधा योगी सरकार पर निशाना, कहा, इस सरकार से किसी को उम्मीद नहीं है• पद्मावत पर SC के फैसले के बाद विरोध का सिलसिला शुरु, बजरंग दल ने मेरठ में जुलूस निकाला• रायबरेली के ARTO आफिस में मची है अंधेरगर्दी, दलालों के बिना नहीं होता है कोई काम• बुंदेलखंड के किसानों की कौन सुने, क्रय केंद्र पर बिन पैसे काम नहीं हो रहा, किसान ने दी जान• कजाकिस्तान: बस में लगी आग, 52 लोगों की मौत• 'पद्मावत' नहीं चलनी चाहिए, फिल्म हॉल में कर्फ्यू लगा दे'• लखनऊ के स्कूल में रेयान जैसा कांड, पुलिस ने स्कूल के प्रिसिंपल को किया गिरफ्तार• प्रेग्नेंसी की खबरों से परेशान हुई बिपाशा बसु, गुस्से में किया ये ट्वीट• वाराणसी में अवैध अंडरग्राउंड मार्केट बनाने के मामले में 7 के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, 2 गिरफ्तार• योगी सरकार ने खेल और खिलाड़ियों के लिए खोला पिटारा, चेतन चौहान ने की कई घोषणाएं• ब्राइटलैंड स्कूल के घायल छात्र से मिले सीएम योगी, छात्रा ने नहीं कबूल किया अपना जूर्म• आश्चर्यः आठवीं का छात्र सुनाता है 20 करोड़ तक के पहाड़े, सुलझाता है इंटर और बीएससी के गणित • सुप्रीम कोर्ट ने चार राज्यों में फिल्म पर लगा बैन हटाया,अब सभी राज्यों में रिलीज होगी 'पद्मावत' • लखनऊ के स्कूल में रेयान जैसा कांड,अभिभावकों ने स्कूल के सामने किया हंगामा• यूपी पुलिस के ट्रेनी SI ने दिया इस्तीफा, बताई ये बड़ी वजह• हरदोई : घने कोहरे के कारण तालाब में गिरी कार,5 की मौत• मथुरा :पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में 8 साल के बच्चे की मौत,सीएम योगी ने दिए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश• 7वीं की छात्रा ने टॉयलेट में पहली क्लास के छात्र को मारा चाकू, कराना चाहती थी स्कूल की छुट्टी !• जम्मू कश्मीर: पाकिस्तान ने तोड़ा सीजफायर, BSF का एक जवान शहीद• कन्नौज : पुलिस ने मुठभेड़ कर गिरफ्तार किया 25 हजार का इनामी बदमाश• बैग से पेट को क्यों छुपा रही है बिपाशा, क्या वह प्रेग्नेंट है, देखें वीडियो

सपा में सुलह की 8वीं कोशिश, अखिलेश-मुलायम के बीच बैठक जारी

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में चल रहे वि‍वादों के बीच चुनाव आयोग में 'साइकिल' पर अपना दावा जताकर लौटे मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को कहा कि अगले चुनाव में अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे। हालांकि उन्होंने इस बात का जवाब नही दिया कि पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष की भूमिका कौन निभायेगा। साथ ही प्रत्याशियों को चुनाव चिह्न देने वाले फार्म पर किसके हस्ताक्षर दिखाई देंगे।माना जा रहा हैं इन सभी सवालों पर मंगलवार को अखिलेश के साथ होने वाली बैठक में चर्चा की जायेगी। बता दें कि सोमवार शाम दि‍ल्‍ली से लखनऊ लौटे मुलायम सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि "समाजवादी पार्टी एक ही है। चुनाव के बाद अगले सीएम अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसमें कोई कन्‍फ्यूजन नहीं है। समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी। 

अब तक सुलह की 7 कोशिशें हो चुकी है नाकाम

 

-आपको बता दें कि सुलह की पहली कोशिश 31 दि‍संबर 2016 को की गई। जब मुलायम के साथ हुई मीटिंग में अखिलेश ने अपनी 4 शर्तें रखी थीं।

-जिसमें पहली शर्त में अखिलेश ने अमर सिंह को पार्टी से बर्खास्त करने के लिए कहा था।

-दूसरी शर्त में अखिलेश ने कहा कि शिवपाल यादव को राष्ट्रीय राजनीति में भेजा जाए।

-तीसरी शर्त में कहा गया कि टिकट बंटवारा मुलायम और अखिलेश की सहमति से हो। इसमें किसी तीसरे की दखलंदाजी न हो।

-चौथी शर्त में मांग की गई कि टीम अखिलेश के बर्खास्त लोगों को भी पार्टी में वापस लिया जाए।

-हालांकि अखिलेश की ये सभी शर्तें नहीं मानी गईं।

-जबकि सुलह की दूसरी कोशिश 2 जनवरी को की गई। जब सपा के सिंबल पर दावेदारी के लि‍ए शि‍वपाल और अमर सिंह के साथ मुलायम चुनाव आयोग पहुंचे।

-3 जनवरी को अपनी तीसरी सुलह की कोशिश के चलते अखि‍लेश यादव ने मुलायम सिंह के घर पर जाकर मुलाकात की, पर बात नहीं बनी। 

-बता दें कि 4 जनवरी को हुई अपनी चौथी सुलह की कोशिश में आजम के साथ मुलायम की 5 घंटे तक बातचीत हुई, लेकि‍न फिर भी कोई समझौता नहीं हो सका। 

- लेकिन पांचवी बार ये कोशिश 5 जनवरी को की गई। जब देर रात तक करीब 4 घंटे मुलायम, शि‍वपाल और अमर सिंह के बीच दि‍ल्‍ली में बातचीत हुई। 

- 6 जनवरी को छठी बार सुबह अखि‍लेश यादव से शि‍वपाल और अमर ने मुलाकात की।लेकिन कोई फैसला नही हो पाया।

- सातवीं बार 8 जनवरी रविवार की सुबह अखिलेश ने मुलायम को फोन किया था। मुलायम ने अखिलेश के सामने दो शर्तें रखीं थीं। पहली की वे नेशनल प्रेसिडेंट बने रहेंगे और दूसरी शिवपाल प्रदेश अध्‍यक्ष बने रहेंगे। सूत्रों के अनुसार ये दोनों ही शर्तें अखिलेश ने नहीं मानी थी।

- बहरहाल आज आठंवी बार 10 जनवरी को अखिलेश एक बार फिर मुलायम के घर उनसे मिलने पहुंचे हैं।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: