Headline • गाजियाबाद : 11वीं क्लास के छात्र ने 5वीं की छात्रा से स्कूल बस में की छेड़छाड़, आरोपी गिरफ्तार• कंडोम विज्ञापन के टाइम में हुए बदलाव को लेकर खफा हुई राखी सावंत, कह डाली ये बड़ी बात• मऊ : रेलवे की बड़ी लापरवाही आई सामने,टूटी हुई पटरी से गुजरी ट्रेनें• नये साल पर कपिल शर्मा अपने फैन्स को दे सकते हैं ये बड़ा गिफ्ट !• शर्मनाक : वाराणसी में विदेशी महिला से रेप का प्रयास• मिड-डे मील का खाना लेने गई थी मासूम,गर्म खिचड़ी के भिगोने में गिरी• रायबरेली : बिजली गई तो अस्पताल प्रशासन ने नहीं चलाया जनरेटर, टॉर्च जलाकर अंधेरे में बैठे रहे मरीज• सपा विधायक की कार से अचानक टकराई नील गाय और फिर...• बौद्ध भिक्षु प्रज्ञानंद का पार्थिव शरीर पहुंचा श्रावस्ती, आज होगा अंतिम संस्कार• CM योगी 'सौभाग्य' योजना के तहत आज उन्नाव में बांटेंगे बिजली कनेक्शन• छेड़छाड़ के आरोपी को पंचायत में पांच जूते लगवाकर किया बरी, चुपचाप खड़े देखती रही पुलिस• लखनऊ : पूर्व BJP विधायक के बेटे की गोली मारकर हत्या• BJP नेता की दबंगई से परेशान है ये सिपाही,बोला-'अपने परिवार की जान बचाने के लिए शहर छोड़कर जाना चाहता हूं'• Box Office पर फुकरे रिटर्न्स कर रहा धमाका, 7 दिन में 50 करोड़ के पार • सैफ-करीना यहां मनाएंगे तैमूर का बर्थडे, पटौदी के लिए रवाना• सनी लियोनी विवाद: कर्नाटक के गृह मंत्री ने भरतनाट्यम करने की दी सलाह • मलाइका फिर हुईं ट्रोल, एक यूजर ने कहा, मलइका तुम्हें खुद को ढकना चाहिए• अर्शी खान के रवैए से नाराज हुए 'दबंग', रद्द करना पड़ा टास्क • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गंगा की पूजा कर लेटे हनुमान का लिया आशीर्वाद• इस मैच को देखनेवाले हुए रवींद्र जडेजा के फैंन, नहीं देखी थी ऐसी पारी• क्रिकेट में टीम आईपीएस ने टीम आईएएस को एकतरफा धो दिया• U-19 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया टीम का कैप्टन बनेगा भारतीय मूल का खिलाड़ी• IAS Week में बनी सबकी कुंडली पढ़िए...किस पर है गुरु की दृष्टि, किस पर है शनि और राहु-केतु की कुदृष्टि • प्याज की कीमतों में जल्द आएगी गिरावट, मुनाफाखोरी से कम हुआ सप्लाई• 1 फरवरी से लागू होगी ई-वे बिल, जीएसटी परिषद ने दी मंजूरी

पुरानी कारों में बैठ बोल पड़े लोग- 'Old Is Gold', किसी ने ली फोटो तो कोई बैठने को बेताब

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ में रविवार का दिन पुरानी कारों के नाम रहा। नवाबी नगरी में 'ओल्ड इज गोल्ड' का मुहावरा बिल्कुल सही लग रहा था। पुरानी कारों में बैठने के लिए लोग बेताब दिखे। बुजुर्ग तो अंग्रेजों के जमाने की गाड़ियों को देखकर अपनी यादों में खो गए।


इसलिए आई उन दिनों की याद


- पुरानी कारों की रैली में शामिल पुष्पेंद्र सिंह ने बताया कि रविवार का दिन उनके लिए काफी खास रहा।
- उन्होंने बताया कि कभी इन गाड़ियों को देखने के लिए लोगों की लाइन लग जाती थी। शहर में कुछ ही लोगों के पास ऐसी कारें हुआ करती थी।
- अंग्रेजों के जमाने की फोर्ड ए को देखते ही उनकी आंखों से आंसू छलक गए। उन्होंने कहा कि बच्चे रोड पर इन गाड़ियों को देख दौड़ पड़ते थे।
- बता दें कि लखनऊ में रविवार को पुरानी कारों की रैली निकाली गई थी। जिसमें ऐसी गाड़ी रखनेवाले लोग शामिल हुए।


डीएम ने दिखाई हरी झंडी


- विंटेज कार रैली को डीएम सतेंद्र सिंह ने हरी झंडी दिखाई। उन्होंने कहा कि सड़क पर पुरानी कारों को चलता देख अच्छा लग रहा है।
- इस रैली में पुराने जमाने की जगुआर, शेवरेल, फोर्ड ए समेत कई गाड़िया दिखी।
- लोगों ने कहा कि उनकी निगाहें इन गाड़ियों पर थमी रही। इसपर बैठकर हर कोई गर्व महसूस कर रहा था।

 

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: