Headline • दो जगहों से चुनाव लड़ेंगी पूर्व पीएम नवाज शरीफ की बेटी मरियम, 25 जुलाई को पाक में आम चुनाव• ठगी के मामले में पहली बार बोलीं सुरवीन,  पति, भाई और खुद पर लगे थे 40 लाख ठगी के आरोप• फिरोजाबाद में पकड़ी गई पाकिस्तानी महिला, 20 साल से छुपकर रह रही थीं• रविवार को होनी थी शादी, लड़की ने प्रेमी संग फांसी पर लटक कर दे दी जान• महिला खिलाड़ियों के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले के खिलाफ कई शहरों में रिपोर्ट दर्ज• पेट दर्द के कारण सनी लियोनी उत्तराखंड के अस्पताल में भर्ती, स्पिल्ट्सविला की शूटिंग के लिए गई थीं• गांव वालों ने दी कालाडूंगी के लाल को अंतिम विदाई, देखें तस्वीरें• कल है बेटे की शादी का रिशेप्सन, खुद ही कुदाल फावड़ा लेकर सड़क बनाने निकले मंत्री राजभर• इरफान की मदद के लिए सामने आए किंग खान, बहुत कम लोग कर पाते हैं ऐसी मदद• अर्जेंटीना के प्रदर्शन से डिएगो माराडोना दुखी, कहा-सिर्फ मेसी को दोष देना सही नहीं• अखिलेश और शिवपाल में फिर तल्खी, चाचा ने कहा-मानी होती बात तो आज सीएम होते टीपू• डांसर सपना चौधरी पहुंचीं राहुल व सोनिया से मिलने, मुलाकात नहीं हुई पर कहा, कांग्रेस का प्रचार करुंगी • बस की छत पर बैठकर जा रहे थे बारात में, हाईटेंशन तार छूने से तीन झुलसे, खुशियां चीख में बदलीं• तस्करी कर गाय ले जा रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़, एक को लगी गोली, दूसरा गिरकर घायल• 2019 का चुनाव सपा के साथ मिलकर लड़ेगी निषाद पार्टी, अध्यक्ष ने कहा- बीजेपी को हराएंगे• अनियंत्रित ट्रक सड़क किनारे लोगों पर पलटा, 4 की मौत दो घायल, ढाबे के बाहर सो रहे थे लोग• देवभूमि में डकैतों का उत्पात, रुद्रपुर में परिवार पर बरपाया कहर, दो बड़ी घटनाओं से पुलिस पर सवाल• अल्मोड़ा में रहते है तो सावधान, गंदगी करने पर भरना पड़ेगा जुर्माना, नगर पालिका और प्रशासन सख्त• थाने में 302 के आरोपी को दी गई थर्ड डिग्री, बिगड़ी हालत देख जेल प्रशासन ने लेने से किया इनकार• पथरी का ऑपरेशन करते-करते मरीज का गुर्दा ही निकाल दिया, लगा गुर्दा तस्करी का आरोप• जम्मू-कश्मीर: त्राल में सुरक्षाबलों पर आतंकियों ने किया ग्रेनेड से हमला, 10 जवान घायल• गंदी नियत से पड़ोसी के घर में घुसा युवक, लोगों ने मुंह काला कर गांव में घुमाया• गुजरात : वडोदरा में स्कूल के वॉशरूम में मिला 9वीं के छात्र का शव, बैग से बरामद हुआ चाकू• गोंडा : टैंकर और कार की आमने-सामने की टक्कर,एक ही परिवार के पांच लोगों की दर्दनाक मौत• मॉल में चलते-चलते अचानक फिसलकर गिर पड़ी काजोल, फिर हुआ कुछ ऐसा, देखें वीडियो

आशीष नेहरा ने कराची में मोईन खान को नहीं बनाने दिए थे 6 बॉल पर 9 रन 

नई दिल्ली. टीम इंडिया के दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संयास की घोषणा कर दिया है। भारत के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा अपने जीवन का अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच एक नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने घर दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर होने वाले टी-20 मैच के रूप में खेलेंगे। इसके बाद 38 साल के नेहरा किसी भी प्रारूप में भारतीय जर्सी में नजर नहीं आएंगे। आइए जानते है नेहरा के पांच बेहतरीन रिकॉर्ड के बारे में... 

 

1999 में किए थे डेब्यू 

-टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज आशीष नेहरा 1999 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में और 2001 में जिंबाब्वे के खिलाफ वन डे में डेब्यू किया था।

-बहुत जल्दी ही नेहरा नई गेंद के बेहतरीन गेंदबाज माने जाने लगे, लेकिन लगातार चोटों ने उनके करियर को तेजी से आगे नहीं बढ़ने दिया।

-12 सर्जरी झेल चुके नेहरा के लिए खुद को प्रेरित करना और दोबारा कमबैक करना आसान नहीं था।

-मगर 38 साल की उम्र में नेहरा ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 में वापस लौटे।

-यह कम चौंकाने वाली बात नहीं थी। उनकी परफॉर्मेंस हमेशा की तरह ही शानदार रही।

 

15 साल बाद विदेशी जमीन पर दिलाई जीत 

-भारत 15 साल से विदेशी जमीन पर कोई सीरीज नहीं जीता था।

-उस समय 22 वर्षीय नेहरा का यह पहला विदेशी दौरा था।

-पहली पारी में नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 23 रन पर 3 विकेट लिए।

-जिंबाब्वे की पूरी टीम 173 रन पर आउट हो गई।

-भारत को पहली पारी में 145 रनों की लीड मिल गईय़

-दूसरी पारी में भी नेहरा ने एंडी फ्लॉवर और डिओन इब्राहिम का विकेट निकाला।

-नेहरा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत यह टेस्ट जीत गया।

 

उल्टी होने के बाद भी नहीं माने हार 

-2003 के विश्व कप में डर्बन में हुए लीग मैच इंग्लैंड के खिलाफ नेहरा की घातक गेंदबाजी आज भी भारतीय फैंस की दिमागा में है।

-भारत ने पहले खेलते हुए 249 रन बनाए थे, लेकिन इस मैच में आशीष नेहरा ने शानदार तेज गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 23 रन पर 6 विकेट निकाले।

-इस दौरान नेहरा लगातार 140 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी किए थे।

-इंगलैंड का कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदों को नहीं खेल पाया और भारत 82 रनों से यह मैच जीत गया। 

 

पाकिस्तान के खिलाफ किए थे शानदार गेंदबाजी 

-2009 के बाद से नेहरा जहीर खान के साथ भारत के मुख्य गेंदबाज बन चुके थे।

-हालांकि टीम में उनका आना जाना लगा हुआ था। लेकिन वन डे में टीम में उन्होंने अपनी जगह बना ली थी।

-2011 के विश्व कप में नेहरा ने केवल तीन मैच खेले।

-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बावजूद उन्हें सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ टीम में शामिल कर लिया गया।

-पाकिस्तान 260 रनों का बचाव कर रहा था। नेहरा को शुरू में विकेट नहीं मिले, लेकिन रन गति पर वह अंकुश लगाये रहे।

-उनका गेंदबाजी प्रदर्शन रहा- 10 ओवरों में 33 रन 2 विकेट।

 

मोइन खान को नहीं बनाने दिए थे 9 रन 

-टीम इंडिया 2004 में पाकिस्तान के दौरे पर गई हुई थी। वनडे सीरीज का पहला मैच कराची में खेला जा रहा था।

-जहां पर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए राहुल द्रविड़ और विरेंद्र सहवाग के शानदार अर्धशतकीय पारी की बदौलत 349 रन का विशाल स्कोर खड़ा की थी।

-जिसके जवाब में पाकिस्तान के तरफ से इजमामूल हक के बेहतरीन शतकीय पारी के बदौलत पाकिस्तान जीत के करीब पहुंच गया था।

-आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 9 रन चाहिए था। 

-जिसके बाद भारतीय कप्तान सौरभ गांगूली ने भरोसेमंद गेंदबाज आशीष नेहरा को गेंदबाजी की जिम्मेवारी सौपी। 

-नेहरा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए इस ओवप में महज 3 रन दिए थे, टीम इंडिया 6 रनों से जीत दर्ज की थी।  

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: