top-advertisement

Headline • यहां लंगूर कर रहे EVM मशीन की सुरक्षा, बंदरों के आतंक से डरी पुलिस• चुनावी सभा में डिंपल के साथ हुआ ऐसा, हाथ जोड़कर बोलीं,- ''चुप रहो, वरना भाभी बात नहीं करेंगी''• मलाइका अरोड़ा के घर बर्थडे पार्टी में पहुंचे अरबाज खान, देखें तस्वीरें • IPL में इस प्लेयर की 3 करोड़ में लगी बोली, कहा- 'क्रिकेट मेरे पास नहीं होता, तो जरुर मैं कुली होता'• RSS के एजेंडे पर चल रही बीजेपी, बहुमत की सरकार बनाएगी BSP- मायावती• 'परिवार में झगड़ा न होता तो कांग्रेस से गठबंधन भी नहीं होता': अखिलेश यादव• कौशाम्बी के पास शिवगंगा एक्सप्रेस में लगी आग, दिल्ली हावड़ा रुट प्रभावित• मायावती आज सिद्धार्थनगर और फैजाबाद में करेंगी रैली, सीएम अखिलेश करेंगे 7 जनसभाओं को संबोधित, जानें पूरा शेड्यूल• राजनाथ सिंह आज 5 जनसभाओं को करेंगे संबोधित, अमित शाह पूर्वांचल में भरेंगे हुंकार • 'यह एक रचा हुआ ड्रामा था, जिसमें हम सभी को रोल दिया गया': अमर सिंह• ''सीएम अखिलेश गंगा की कसम खाकर कहें, क्या मुसलमानों के साथ इंसाफ किया': असदुद्दीन ओवैसी• बाल- बाल बचे भाजपा सांसद, हेलीकॉप्‍टर की करनी पड़ी आपात लैंडिंग• अखिलेश सरकार में कब्रिस्तान का बजट रहा दोगुना, तो बेहाल रहे श्मशान• अखिलेश पर योगी का पलटवार, कहा- 'देवा शरीफ में 24 घंटे बिजली, महादेव मंदिर में 4 घंटे भी नहीं' • अखिलेश सरकार का एक और कारनामा उजागर, मंत्री भी कर चुके हैं शिकायत, हाईकोर्ट ने मांगा जवाब• PM के लिए गोदनामा तैयार, जानें मोदी को कौन ले रहा है गोद• शंख बजाकर बोले शाह- सरकार बनते ही खत्म होगा गुंडाराज, मृत्युदंड देने का आया समय• मायावती ने BJP को बताया 'भारतीय जुमला पार्टी', कहा- 'चुनाव को हिंदू-मुस्लिम में बांट रही बीजेपी' • SSP का फर्जी FB अकाउंट : जब मैडम ही नहीं सुरक्षित, तो औरों को कैसे बचाएगी UP पुलिस• रितिक रोशन के बीच कथित प्रेम संबंधों का मशहूर मसला अब बीते दिनों की बात है: कंगना रनौत• डिप्रेशन में आ गए हैं अखिलेश, दिखने लगी है हार : विजय रुपाणी• टी. नटराजन जैसे युवा प्रतिभा को मौका मिलते रहना चाहिए: आर. अश्विन• 1 अप्रैल से जियो की फ्री सेवा होगी बंद, इसके बाद महज 10 रुपये में मिलेगा अनलिमिटेड सर्विस• इलाहबाद में BJP के रोड शो में भगवा साड़ी में दिखी महिलाएं, समर्थकों ने लगाए जय श्रीराम के नारे• लालू ने पीएम मोदी को बताया "इंडियन डोनाल्ड ट्रंप", नोटबंदी पर दी बहस की चुनौती
BCCI vs Lodha Panel : सुप्रीम कोर्ट ने अनुराग ठाकुर को BCCI अध्यक्ष पद से हटाया

नई दिल्ली: लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने में हो रही आनाकानी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को एक बड़ा झटका दिया हैं। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने बोर्ड अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को उनके पद से हटा दिया गया है।

बता दें कि इस मामले पर पिछले डेढ़ साल से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। अनुराग ठाकुर पर लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को नहीं मानने का आरोप लगा है।

साथ ही अनुराग पर ये भी आरोप लगा हैं कि उन्होंने गलत हलफनामा दाखिल किया हैं। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने अनुराग ठाकुर को अवमानना नोटिस जारी कर दिया है।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि प्रशासकों की समिति बीसीसीआई के कामकाज को देखेगी। साथ ही अध्यक्ष का काम बीसीसीआई का सबसे वरिष्ठ उपाध्यक्ष और सचिव का काम संयुक्त सचिव संभालेगा।

क्या है पूरा मामला

-बीसीसीआई के लिए मुश्किलों का दौर साल 2013 में शुरू हुआ था, जब आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग और मैच फिक्सिंग मामले में दिल्ली पुलिस ने आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल के तीन खिलाड़ियों को गिरफ्तार कर लिया।
-इन तीन खिलाड़ियों पर मैच के दौरान स्पॉट फ़िक्सिंग में लिप्त होने का आरोप था।
-इसके कुछ ही दिन बाद उस समय के बीसीसीआई प्रमुख एन श्रीनिवासन के दामाद और उनकी आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के सीईओ गुरुनाथ मयप्पन भी हिरासत में ले लिए गए।
-लेकिन जब इस मामले ने तूल पकड़ा और जब मामला सुप्रीम कोर्ट तक जा पहुंचा तो सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान इसकी जांच के लिए जस्टिस मुकुल मुद्गल के अध्यक्षता में एक कमेटी बना दी।
- जिसने साल 2014 में अपनी रिपोर्ट सौंपी। मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई में सुधारों की जरूरत महसूस करते हुए कुछ सख्त निर्देश दिए।
-जिसके बाद जनवरी, 2015 को सुप्रीम कोर्ट के पूर्व प्रधान न्यायाधीश जस्टिस आरएम लोढा के नेतृत्व में तीन सदस्यों की कमेटी गठित कर दी गई।
- जस्टिस लोढ़ा कमेटी ने  4 जनवरी, 2016 को बीसीसीआई में सुधारों के लिए कई अहम सिफारिशें रखीं।
-बीसीसीआई ने इनमें से कई सिफारिशों पर तो हां कह दिया, लेकिन कुछ को लेकर अड़ियल रुख अपना लिया।
-जिसके बाद कई बार सुनवाई का दौर चला लेकिन बीसीसीआई अपने रुख से डिगने को तैयार नहीं था।
-सुप्रीम कोर्ट ने उसे कई बार चेतावनी भी दी, उसका फंड भी रोका, लेकिन बोर्ड अपनी समस्याओं का रोना रोता रहा।


संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

advertisement1

  • samachar plus
  • live-tv-uttrakhand
  • live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
:

right-advertisement

left-advertisement