Headline • नाना पाटेकर को क्लिन चिट मिलने पर तनुश्री दत्ता ने कहा• बीजेपी, टीएमसी के बाद अब बंगाल में कांग्रेस का नाम भी आया राजनीतिक हिंसा में• आगामी भारत और पाकिस्तान के मैच में कैसा रहेगा, मैनचेस्टर में मौसम का मिजाज• मांगो को मानने के लिए ममता सरकार को 48 घंटे का डॉक्टरों ने दिया अल्टिमेटम• इतनी फिल्मे करने के बाद भी क्यों सलमान खान को लगता है समीक्षको से डर !• भारत और इंग्लैड के बीच होगा फाइनल मैच: गूगल सीईओ सुन्दर पिचाई• बीजेपी के सहयोगी नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू बजट सत्र में करेगी तीन तलाक का विरोध • 'टिकटॉक' विडियों बनाने के चक्‍कर में सलमान को लगी गोली, 2 युवक पहुंचे जेल • लोक सभा के बाद अमित शाह ने हरियाणा विजय की खास रणनीति बनाई• घट सकती है दिल्ली मेट्रों का किराया, 30 लाख से अधिक यात्रियों को फायदा• चक्रवाती तूफान 'वायु' ने अपना रास्ता बदला लेकिन एजेंसियां अलर्ट पर अभी खतरा बाकी है • महेंद्र सिंह धोनी के सेना के 'बलिदान बैज' वाले दस्तानों पर बहस तेज• अफगानिस्तान सेना के दस्ते ने आतंकी संगठन तालिबान की जेल से छुड़ाए 83 नागरिक• जगन मोहन रेड्डी ने पलटा चंद्रबाबू सरकार का फैसला, अब आंध्र प्रदेश में CBI कर सकेगी जांच• नमाज के दौरान बेकाबू कार ने भीड़ को मारी टक्‍कर हुआ हगामा • गृह मंत्रालय का प्रभार संभालते ही बीजेपी चीफ अमित शाह ऐक्शन में, जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग पर विचार• मायावती की सपा-बसपा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद अब अखिलेश ने तोड़ी चुप्पी, 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे उपचुनाव'• लोकसभा चुनाव प्रदर्शन से नाखुश बसपा बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा फैसला, अब लड़ेगी सभी उपचुनाव • अमेरिका को चीन की युद्ध की धमकी से पड़ोसी देश चिंतित • भारतीय वायुसेना का एएन-32 विमान लापता, वायुसेना का सर्च ऑपरेशन जारी • अमेरिका ने भारत को GSP दर्जे से किया बाहर • देश में भीषण गर्मी का कहर, दिल्‍ली मे रेड अलर्ट जारी • इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय के बाद अब लखनऊ विश्‍वविद्यालय में पढ़ाया जाएगा अनुच्‍छेद 370• जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर• मोदी सरकार में अमित शाह गृहमंत्री, राजनाथ होंगे रक्षा मंत्री, निर्मला सीतारमन बनीं वित्‍त मंत्री


शाहजहांपुर. बैंक लोन लेकर फरार हुए 'विजय माल्या' की तरह शाहजहांपुर में 14 हजार से ज्यादा छोटे 'विजय माल्या' मौजूद है जिन पर 220 करोड़ से ज्यादा का बैंक लोन बकाया है। यहां बैंक ने 14 हजार से ज्यादा बैंक कर्जदारों के खिलाफ रिकवरी की आरसी जारी की है। फिलहाल, एक साथ इतनी बड़ी कार्यवाही के बाद से बैंक कर्जदारों हडकंप मचा हुआ है। जिला प्रशासन ने भी दो सौ बीस करोड़ की रिकवरी के लिए राजस्व विभाग को कड़े निर्देश जारी किये है। 

-दरअसल, शाहजहांपुर में 30 अलग अलग बैंकों ने लोगों को सरकारी योजनाओं के नाम पर 220 करोड़ रुपया लोन पर दिया था। जिसमें सबसे ज्यादा लोन बैक ऑफ बड़ौदा ने बांटा है। लेकिन पूरे जनपद में 14 हजार से ज्यादा लोग बैंक द्वारा दिये गये कर्ज का पैसा दबाए बैंठै है। इनमें से कई ऐसे है जो जिला छोड़कर दूसरे राज्यों में नौकरी कर रहे है। तमाम को शिशों के बाद भी जब बैंक का कर्ज वापस नहीं मिला तो बैंक ने जिला प्रशासन के साथ खास बैठक करके पैसों की रिकवरी करने का फैसला किया है। 

-इसी के चलते लीड बैंक ने सभी तीस बैंकों का लगभग 220 करोड़ रुपयों की वसूली के लिए 14 हजार कर्जदारों के खिलाफ रिकवरी के लिए सभी पांचों तहसीलों के लिए आरसी जारी की है। 

-वहीं जिला प्रशासन भी बैंक के अरबों रुपए की रिकवरी के संबंधित तहसीलों को रिकवरी के आदेश दिये है। 

-जिला प्रशासन का कहना है कि रिकवरी में लावरवाही करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। 

-बैंकों का ये भी कहना है कि अगर व्यापारियों और उद्योगों पर बकाय का आंकलन किया जाये तो रिकवरी कई अरबों में हो सकती है। 

संबंधित समाचार

:
:
: