Headline • कर्नाटक: सिद्धगंगा मठ के मठाधीश शिवकुमार स्वामी का 111 साल की उम्र में निधन• Amazon ग्रेट इंडियन सेल: तीन दिनों की शानदार डील• मेक्सिको ईंधन पाइपलाइन ब्लास्ट में मरने वालों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 85 हो गया।• विपक्ष का गठबंधन नकारात्मकता और भ्रष्टाचार का है :पीएम मोदी• धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम• RRB ग्रुप डी आंसर की जारी 14 से 19 जनवरी तक दर्ज कराएं अपनी आपत्ति• सवर्णों को 10% आरक्षण बिल को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती• अयोध्या विवाद संवैधानिक बेंच से जस्टिस यूयू ललित हटे, 29 जनवरी को फिर से होगी सुनवाई• जम्मू-कश्मीर के आईएएस शाह फ़ैसल ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए इस्तीफ़ा देने का किया ऐलान I


शाहजहांपुर. बैंक लोन लेकर फरार हुए 'विजय माल्या' की तरह शाहजहांपुर में 14 हजार से ज्यादा छोटे 'विजय माल्या' मौजूद है जिन पर 220 करोड़ से ज्यादा का बैंक लोन बकाया है। यहां बैंक ने 14 हजार से ज्यादा बैंक कर्जदारों के खिलाफ रिकवरी की आरसी जारी की है। फिलहाल, एक साथ इतनी बड़ी कार्यवाही के बाद से बैंक कर्जदारों हडकंप मचा हुआ है। जिला प्रशासन ने भी दो सौ बीस करोड़ की रिकवरी के लिए राजस्व विभाग को कड़े निर्देश जारी किये है। 

-दरअसल, शाहजहांपुर में 30 अलग अलग बैंकों ने लोगों को सरकारी योजनाओं के नाम पर 220 करोड़ रुपया लोन पर दिया था। जिसमें सबसे ज्यादा लोन बैक ऑफ बड़ौदा ने बांटा है। लेकिन पूरे जनपद में 14 हजार से ज्यादा लोग बैंक द्वारा दिये गये कर्ज का पैसा दबाए बैंठै है। इनमें से कई ऐसे है जो जिला छोड़कर दूसरे राज्यों में नौकरी कर रहे है। तमाम को शिशों के बाद भी जब बैंक का कर्ज वापस नहीं मिला तो बैंक ने जिला प्रशासन के साथ खास बैठक करके पैसों की रिकवरी करने का फैसला किया है। 

-इसी के चलते लीड बैंक ने सभी तीस बैंकों का लगभग 220 करोड़ रुपयों की वसूली के लिए 14 हजार कर्जदारों के खिलाफ रिकवरी के लिए सभी पांचों तहसीलों के लिए आरसी जारी की है। 

-वहीं जिला प्रशासन भी बैंक के अरबों रुपए की रिकवरी के संबंधित तहसीलों को रिकवरी के आदेश दिये है। 

-जिला प्रशासन का कहना है कि रिकवरी में लावरवाही करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। 

-बैंकों का ये भी कहना है कि अगर व्यापारियों और उद्योगों पर बकाय का आंकलन किया जाये तो रिकवरी कई अरबों में हो सकती है। 

संबंधित समाचार

:
:
: