Headline • अमित शाह की रैली से पूर्व रैली स्थल के एक हिस्से में लगी आग, तुरंत काबू पा लिया गया• दो गोल्ड सहित चार मेडल जीतने वाली बैडमिंटन खिलाड़ी मनिका को मिल सकता है अर्जुन पुरस्कार• दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली सेलिब्रिटीज में क्रिकेट से एकमात्र विराट कोहली, सचिन ने लिखी प्रोफाइल• संभल के गांवों में 10 साल पहले लगे थे खंभे लेकिन आजतक नहीं पहुंची बिजली, अंधेरे में जीते हैं लोग• अब भारत भी करेगा आतंकी ठिकानों पर ड्रोन से हमला, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ड्रोन की बिक्री को दी हरी झंडी• मिलिए रियल लाइफ राउडी राठौड़ से, जिनके नाम मात्र से बदमाश कांपने लगते हैं• गाजियाबाद की नई एलिवेटेड रोड पर होगी मैराथन दौड़, 22 व 23 को प्रदेश का पहला कचरा महोत्सव• बरेली के जिला अस्पताल में आॅक्सीजन लीक से हड़कंप, 15 मिनट तक भर्ती बच्चों को नहीं मिली आॅक्सीजन• ATM में आए पैसे तो लोगों ने की लक्ष्मी मैया की पूजा• बीजेपी सांसद ने कहा, हम नहीं चाहते राजनीतिक मुकदमें वापस हो, मुजफ्फरनगर दंगों की अगली सुनवाई 29 मई को• मंच सजा था, जयमाल होने वाली थी कि फिल्मी स्टाइल में प्रेमी मंच पर पहुंचा और लड़की को प्रपोज कर दिया, फिर..• Oh No ! बंद हो जाएगा टीवी शो 'नामकरण', इस दिन आएगा आखिरी एपिसोड़ !• बीजेपी में चल पड़ा है दलित के घर भोजन करने का फैशन, अमित शाह के बाद अब मेनका गांधी ने भी खाना खाया• 'केसरी' की शूटिंग के दौरान घायल हुए अक्षय कुमार, मुंबई लौटने से किया इंकार• कांग्रेस MLC ने कहा, प्रियंका गांधी ने जबरन इस्तीफा लिखवा लिया था• गले पर तख्ती लगाकर इस महिला को बताना पड़ रहा है कि वह जिंदा है, सरकारी दस्तावेजों में मृत है• जब आशका ने अपने पति ब्रेंट के साथ किया योगा, वीडियो वायरल• सुनील ग्रोवर के हाथ लगी ये बड़ी फिल्म,बनेंगे सलमान खान के दोस्त !• दहेज को लेकर नहीं देख पाई पिता का अपमान,दूल्हे से कहा-'जा भाग जा अब नहीं करनी शादी'• राष्ट्रपति से वीरता पुरस्कार पाने वाली नाजिया को दबंगों ने पीटा• मुरादाबाद : पेपर देने आई BA की छात्रा से रेप• नरोदा पाटिया दंगा: गुजरात हाईकोर्ट ने माया कोडनानी को किया बरी,बाबू बजरंगी को ताउम्र जेल• #MeToo पाकिस्‍तानी सिंगर मीशा शफी ने अली जफर पर लगाए यौन शोषण के आरोप, कहा.....• उन्नाव रेप केस : आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से वापस ली गई 'Y' कैटेगरी की सुरक्षा• UP : एटा में रेप के बाद 9 साल की मासूम की हत्या, तीन दिन में दूसरी घटना

2015 के बाद स्विस बैंक में भारतीयों की जमा राशि में आई कमी

नई दिल्ली. भारतियों के स्विस बैंकों मे जमा राशि में पहले की तुलना में कमी आई है। स्विट्जरलैंड में निजी बैंकरों के एक समूह ने यह कहा कि ताजा आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार स्विस बैंकों में वर्ष 2015 के अंत में भारतीयों द्वारा जमा राशि घटकर अब तक के न्यूनतम स्तर 1.2 अरब फ्रैंक (करीब 8,392 करोड़ रुपए) पर आ गई। 

 

स्विस बैंकों मे भारतियों के खातों में आई कमी 

-अन्य वैश्विक केंद्रों के बारे में जमा राशि को लेकर कोई बाकी पेज 8 पर आधिकारिक आंकड़ा नहीं मिला है। 

-महत्त्वपूर्ण है कि स्विट्जरलैंड ने भारत और 40 अन्य क्षेत्रों के साथ कर सूचना के स्वत: आदान-प्रदान के लिए पिछले सप्ताह वैश्विक संधि के मसौदे को मंजूरी दे दी।

-आदान-प्रदान के लिए मसौदे में आंकड़ों की गोपनीयता बनाए रखने पर जोर दिया गया है।

 

क्या कहें स्विस बैंक के प्रबंधक 

-वहीं जिनेवा स्थित एसोसएिशन आफ स्विस प्राइवेट बैंक ने कहा कि उसे भारत को लेकर कोई अलग से चिंता नहीं लगती है क्योंकि कानून का शासन लागू है। 

-एसोसिएशन के प्रबंधक जान लांगलो ने जिनेवा से कहा,‘ स्विटजरलैंड में भारतीयों के सिंगापुर या हांगकांग के मुकाबले यहां काफी कम खाते हैं।’ 

-भारतीयों की जमा प्रवृत्ति के बारे में पूछे जाने पर लांगलो ने कहा कि ऐसी कोई खास प्रवृत्ति नहीं है। 

-उन्होंने कहा, ‘उनके लिए स्विट्जरलैंड के मुकाबले एशियाई वित्तीय केंद्र में खाता खोलना ज्यादा व्यवहारिक है।’

 

 

 

 

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: