Headline • आगरा के बाजार में चमत्कार को नमस्कार, मोदी नाम का चूर्ण बेच रही कंपनी• न्‍यासा देवगन फिल्‍म इंडस्‍ट्री में अपना लक आजमायेंगी ? अजय देवगन ने की खुलकर बात• चीन को 28 साल में सबसे बड़ा झटका, अर्थव्यवस्था न्यूनतम स्तर पर पहुंची• यूपी 69 हजार शिक्षक भर्ती पर 28 जनवरी तक रोक• कर्नाटक: सिद्धगंगा मठ के मठाधीश शिवकुमार स्वामी का 111 साल की उम्र में निधन• Amazon ग्रेट इंडियन सेल: तीन दिनों की शानदार डील• मेक्सिको ईंधन पाइपलाइन ब्लास्ट में मरने वालों का आंकड़ा रविवार को बढ़कर 85 हो गया।• विपक्ष का गठबंधन नकारात्मकता और भ्रष्टाचार का है :पीएम मोदी• धोनी ने आलोचकों को दिया बल्ले से जमकर जवाब • रूसी विमान युद्धाभ्यास के दौरान जापान सागर पर आपस में टकराए • कंगना करणी सेना से नाराज बोली मैं भी राजपूत हूं बर्बाद कर दुंगी तुम्‍हें• मिशन 2019: चुनाव आयोग मार्च में कर सकता है। लोकसभा चुनाव का एलान • ममता की महारैली में विपक्ष का जमावड़ा, पहुंचे बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा• मेघालय, कोयला खदान से 35 दिनों के बाद 200 फीट की गहराई से निकला मजदूर का शव • भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को स्वाइन फ्लू, एम्स में चल रहा इलाज • रुपये में मजबूती शेयर बाजार 36 हजार के पार• World Bank के प्रमुख पद की दावेदार में इंद्रा नूई का नाम आगे • कर्नाटक में राजनीतिक उठा-पटक, कांग्रेस ने 18 को बुलाई विधायकों की बैठक• विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष राम जन्मभूमि मार्गदर्शक मंडल के सदस्य विष्णु हरि डालमिया का निधन• भदोही में एक निजी स्कूल वैन में लगी आग, 19 बच्चे झुलसे• मथुरा के यमुना एक्सप्रेस वे पर, रफ्तार का कहर 3 की मौत• जहरीली शराब कांड का इनामी बदमाश कानपुर पुलिस की गिरफ्त में• गाजियाबाद में स्वाइन फ्लू की दस्तक, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट• प्रयागराज में हर्ष फायरिंग दौरान, एक को लगी गोली• पेट्रोल-डीजल के दामों ने फिर दिया झटका, क्या रहे आपके शहर के दाम


नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश विधान परिषद नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने कहा कि अगले लोकसभा चुनाव में यूपी में मोदी और अखिलेश की टक्कर होगी। 

महागठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में असली टक्कर नरेंद्र मोदी के चेहरे और अखिलेश यादव की छवि के बीच है। समाचार प्लस से बात करते हुए अहमद हसन ने योगी आदित्यनाथ या मायावती का नाम तक नहीं लिया। 

उन्होंने कहा कि फूलपुर, गोरखपुर, कैराना, नूरपुर हर उपचुनाव में बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा। हालत यह है कि बीजेपी के छात्र संगठन एबीवीपी भी अब छात्र संघ चुनाव से मुंह चुराना चाहती है। तभी गोरखपुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की कोशिश है कि छात्र संघ चुनाव टल जाए।

जब अहमद हसन से यह पूछा गया कि परिवारिक कलह की वजह से सपा कांग्रेस के साथ गठबंधन के बावजूद 2017 का समर हार चुकी है और अब शिवपाल ने अपना मोर्चा बना लिया है तो हसन का कहना था कि शिवपाल के मोर्चे से फर्क नहीं पड़ता और आम चुनाव में समाजवादी पार्टी मजबूत स्थिति में है। मुझे नहीं पता कि शिवपाल ने अलग मोर्चा क्यों बनाया।

योगी सरकार पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि गन्ना किसान परेशान है, कानून व्यवस्था चौपट है, महिलाओं की सुरक्षा राज्य सरकार नहीं कर पा रही है, जेल में कैदियों को सुरक्षित नहीं रख पा रही है, जेल ही नहीं पूरा प्रशासन मौजूदा राज्य सरकार के दबाव में काम कर रहा है, प्रशासन व्यवस्था फेल हो चुकी है।

संबंधित समाचार

:
:
: