Headline • सैफ को छोड़ विराट पर आया करीना का दिल!• विवाद सुलझाने गए दारोगा को बुरी तरह पीटा, लाठी डंडों से मारने के बाद फायरिंग भी की• धाकड़ खिलाड़ी एबी डिविलियर्स ने तीनों फॉर्मेट से लिया संन्यास, कहा-थकान की वजह से खेलना मुश्किल• किसने कहा, मायावती अंबेडकरवादी बल्कि कांशीरामवादी है, दलितों पर उनका अधिकार नहीं है• ईस्टर्न पेरिफेरल के उद्घाटन पर आपत्ति, आरएलडी ने लिखा चुनाव आयोग को खत• दस्यु सुंदरी सीमा परिहार ने कहा-हथियार चलाना भूली नहीं हूं, बीहड़ में कूदने को मजबूर कर रही है पुलिस• आखिर कौन है अली बुदेश, जिसके नाम से मांगी जा रही है 13 विधायकों से रंगदारी • विपक्षी दलों के नेताओं की मौजूदगी में कुमारस्वामी ने ली कर्नाटक के सीएम पद की शपथ, परमेश्वर बने डिप्टी सीएम• 70 साल की महिला ने किया प्रेग्नेंट होने का दावा• यूपी कैबिनेट बैठक में इन 11 प्रस्तावों को मिली हरी झंडी, संस्कृति स्कूल का होगा निर्माण• खरबूजा तोड़ने पर किशोर को तालिबानी सजा देने वाला दबंग गिरफ्तार• राष्ट्रपति कोविंद अचानक पहुंचे रेस्त्रां और नाश्ता किया, बाद रोड की दुकान से किताबें खरीदीं• इलाज करते-करते तांत्रिक ने युवती का दिल जीत लिया, फिर एक दिन युवती को लेकर हो गया फुर्र• IPL प्लेआॅफ में आज कटेगा एक टीम का पत्ता, घरेलू मैदान पर केकेआर को मिलेगा फायदा• रमजान की नमाज के दौरान नो एंट्री में घुसा ट्रक, बवाल पर उतरे रोजेदार, पुलिस की अटकीं सांसें• बीजेपी विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी को मिली रंगदारी की धमकी,दर्ज कराई शिकायत• खरबूजा तोड़ने की किशोर को मिली तालिबानी सजा, दबंग खेत मालिक ने पेड़ से बांधकर पीटा• झोलाछाप डॉक्टर ने 5 साल की मासूम को लगाए इंजेक्शन,पैरों ने काम करना किया बंद• पुलिस ने मुठभेड़ कर मार गिराया 50 हजार का इनामी बदमाश भीका,100 से ज्यादा हत्याओं के मामले में चल रहा था वांछित• सीतापुर में कुत्तों का आतंक जारी,शौच के लिए गए मासूम बच्चे पर किया हमला• नौकरी दिलाने के नाम पर महिला से रेप, BJP के पूर्व जिलाध्यक्ष गिरफ्तार• यूपी में 13 बीजेपी विधायकों से मांगी गई 10-10 लाख की रंगदारी• योगी सरकार का बड़ा फैसला, अब मदरसों में पढ़ाई जाएंगी NCERT की किताबें• अब हरदोई से बीजेपी विधायक से मांगी गई 10 लाख की रंगदारी,मिली परिवार समेत जान से मारने की धमकी• फर्रुखाबाद में टूटा सपना के फैन्स का दिल, डांस देखने आए लोगों पर बरसे लाठी-डंडे


लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती ने वाराणसी फ्लाईओवर हादसा पर दुख व्यक्त किया है और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है। उन्होंने कहा यह मामला बेहद गंभीर है और इस मामले को सरकार को हल्केपन से नहीं लेना चाहिये।

मायावती ने कहा  कि इस घटना की तुरंत ही उच्च-स्तरीय जांच कराकर दोषियों को कड़ी-से-कड़ी सजा देने व दिलाना भी सुनिश्चित करना चाहिए। ताकि ऐसी दर्दनाक घटनाओं को दोबारा होने से रोका जा सके। घोर आपराधिक लापरवाही आदि के ऐसे संगीन मामलों में बीजेपी के शीर्ष नेताओं द्वारा सस्ती मानसिकता दिखाकर केवल ‘मन पर बोझ’ बता देने से जिम्मेदारी से मुक्ति पा लेने का प्रयास सही नहीं है। बल्कि इसके लिए कुछ ठोस सुधारात्मक कार्रवाई व उपाय भी करने की सख्त जरूरत है।

मायावती ने कहा कि अक्सर यही देखा गया है कि सरकार पीडि़त परिवारों और घायलों आदि को अनुग्रह राशि आदि देकर अपने आपको जिम्मेदारी से मुक्त समझ लेती है। जबकि इसके साथ-साथ सरकार का असली कर्तव्य है कि वह दोषियों की पहचान करके सजा सुनिश्चित करें ताकि घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो।

 

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ऐसा नहीं होने के कारण ही प्रदेश में एक-के-बाद-एक लगातार गम्भीर आपराधिक घटनायें होती चली जा रही हैं। वास्तव में यही बुरा व गै़र-जिम्मेदारी का हाल अपराध नियन्त्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में भी प्रदेश बीजेपी सरकार का बना हुआ है। जिस कारण प्रदेश में जमीनी स्तर पर हर तरफ हिंसा, अराजकता व जंगलराज जैसे माहौल है। केवल बीजेपी के मंत्री व इनके नेताओं के बयानों में ही लोगों को हसीन सपने दिखाये जाने के प्रयास किये जाते हैं।

 

मायावती ने कहा कि अपराध नियन्त्रण व कानून-व्यवस्था के साथ- साथ खासकर दलितों व पिछड़ों के विरुद्ध जातिगत द्वेष, हिंसा व अन्याय-अत्याचार के मामले भी उत्तर प्रदेश में रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि ऐसे मामलो में अपराधियों को खुलेआम पुलिस व सरकारी संरक्षण मिलने के कारण स्थिति अत्यन्त ही गम्भीर बनती जा रही है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि इसी क्रम में कल गोरखपुर में घटी घटनाओं का संज्ञान लेते हुये उन्होंने कहा कि प्रदेश बीजेपी सरकार अपनी निष्पक्षता को त्यागकर दलितों के खिलाफ इन्साफ का गला घोंट कर अपराधियों का साथ देने से मामला काफी तूल पकड़ गया। ना केवल अन्याय-अत्याचार बल्कि दलित हत्या के मामले में भी बीजेपी सरकार का ऐसा जातिगत घिनौना रवैया इनकी दलित व पिछड़ा वर्ग-विरोधी चाल, चरित्र व चेहरे को पूरी तरह से बेनकाब करता है।

 

दलितों के घर खाना-खाने को बताया नाटकबाजी

-उन्होंने कहा कि  यह साबित करता है कि बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के अनुयाइयों के प्रति इनका असली व्यवहार कितना ज्यादा अमानवीय व नाइन्साफी का अभी तक बना हुआ है। इस प्रकार इनके वोट की खातिर दलितों के घर खाना खाने आदि की नाटकबाजी इनका केवल राजनीतिक स्वार्थ के अलावा कुछ भी नहीं हैं। इनकी मानसिकता सदियों की तरह आज भी काफी ज़हरीली बनी हुई है जो अति-निन्दनीय है। इसके साथ ही बीएसपी प्रमुख ने गोरखपुर की घटना के सबंध में, दोषियों को कड़ी सजा देने की भी सरकार से मांग की है। 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: