Headline • सरकार चली गई लेकिन सपाइयों की हनक नहीं गई, चौकी में घुस कर पुलिसकर्मियों से की बदसलूकी• सोनिया के संसदीय क्षेत्र में कानून-व्यवस्था रसातल पर, घर में सोए पिता-पुत्र की गला रेत कर हत्या• क्या करेगा एंटी भूमाफिया स्कवॉयड, जब बीजेपी विधायक की नजर दूसरे की जमीन पर गढ़ गई• मलाइका अरोड़ा ने ऐसे सेलिब्रेट किया अपना बर्थडे, देखें PHOTO...• पुलिस नहीं, ग्रामीणों ने दिखाई बहादुरी, लूटकर भाग रहे एक बदमाश को धर दबोचा• बीजेपी के वरिष्ठ नेता विनय कटियार ने कहा-'ताजमहल पहले शिव मंदिर था,शाहजहां ने...'• वोडाफोन लेकर आया अब तक सबसे सस्ता 4G फोन, जानें क्या होगी कीमत !• ईशा देओल ने अपनी बेटी का रखा ये नाम, पहले से ही...• आजमगढ़ में मायावती ने फिर कहा, सहारनपुर में बीजेपी मेरी हत्या कराना चाहती थी• पिता ने अपनी ही बेटियों को ट्रेन से फेंका, हालत गंभीर• FB पर हुई दोस्ती, BF ने अपनी GF को मिलने के लिए बुलाया तो...• सपा चैयरमैन ने किया धर्म परिवर्तन, ममता पांडेय से बनीं सबा खान...• ताजमहल में चालीसा पढ़ने वालों ने कहा -'जब नमाज पढ़ी जा सकती है तो...'• शौच के लिए गई 10वीं की छात्रा से रेप, बेहोश हुई तो...• आगरा एक्सप्रेस-वे पर हरक्यूलिस,जगुआर और सुखोई ने दुनिया को दिखाया भारत का दम• मामूली विवाद के चलते रिटायर्ड दरोगा के बेटे को मारी गोली, अस्पताल में भर्ती• SC ने कहा- देशभक्ति साबित करने के लिए सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान...• नहाय-खाय से आज शुरू हुआ छठ पर्व, पहले दिन...• इस गांव में है सांड का आतंक, घर में घुसकर लोगों को...• आज बसपा सुप्रीमो मायावती की आजमगढ़ में रैली, जानें क्या है कार्यक्रम• ताजमहल के गेट पर बम की सूचना से मचा हडकंप, जांच की तो पता चला...• पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ कर गिरफ्तार किया 15 हजार का इनामी बदमाश• कश्मीर नीति पर मोदी सरकार ने मारी पलटी, अब हर एक से करेगी बातचीत, प्रतिनिधि नियुक्त• नोएडा में बुजुर्ग ने धारदार हथियार से युवती पर किया हमला, दिल्ली रेफर• पूर्व आईपीएस ने टीम इंडिया पर कर दी ऐसी टिप्पणी कि हरभजन सिंह को करारा जवाब देना पड़ा

NSG की राह नही आसान ,सदस्यता में चीन बाधक

नई दिल्ली: चीन लगातार NSG में भारत के प्रवेश को लेकर विरोध करता आ रहा है अभी हाल ही में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने संवाददाताओं से कहा, 'एनएसजी के मुद्दे पर मैं आपको बता सकता हूं कि एनएसजी में नये सदस्यों के प्रवेश पर चीन के रुख में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।' लू की यह टिप्पणी एससीओ समिति की बैठक में एनएसजी में भारत के प्रवेश का मुद्दा उठाये जाने पर था।

भारत के लिए NSG की राह है मुश्किल
-एनएसजी की पूर्ण बैठक अगले सप्ताह स्विट्जरलैंड की राजधानी बर्न में होनी है।
-यह मुद्दा भारत और चीन के साथ द्विपक्षीय बैठक में एक प्रमुख बाधा बन गया है।
-भारत को अमेरिका और कई पश्चिमी देशों का समर्थन हासिल है।
-भारत ने समूह के अधिकतर सदस्यों का समर्थन हासिल कर लिया है।
-चीन अपने इस रुख पर अड़ा हुआ है कि समूह के नये सदस्यों का एनपीटी पर हस्ताक्षर होना चाहिए।
-चीन ने ऐसा करके समूह में भारत का प्रवेश मुश्किल कर दिया है ।
-चीन 48 देशों वाले इस समूह में भारत की सदस्यता को रोकता रहा है।
-यह समूह परमाणु वाणिज्य का नियंत्रक समूह है।
-चीन का कहना 'एनपीटी पर हस्ताक्षर न करने वाले सभी देशों के लिए एक समान नियम'


चीन क्यो नही चाहता NSG में भारत का प्रवेश
-परमाणु क्षमता वाला एकमात्र एशियाई देश होने का रुतबा चीन ने वर्ष 1998 में खो दिया, जब भारत ने सिलसिलेवार परमाणु परीक्षण कर खुद को परमाणु हथियार संपन्न देश घोषित किया।
-तीस वर्षों से ज्यादा समय तक चीन यह रुतबा हासिल किए हुए था।
-पहले भारत, और बाद में पाकिस्तान ने परमाणु क्षमता हासिल कर तस्वीर बदल दी।
-चीन इस तथ्य को पचा नहीं पा रहा कि भारत एक वैश्विक खिलाड़ी के रूप में उभर चुका है, जबकि उसका सहयोगी पाकिस्तान पिछलग्गू बनकर ही रह गया।
-चीन की अर्थव्यवस्था लड़खड़ा रही है, जबकि भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे तेज गति से आगे बढ़ रही है।
-चीन वैश्विक मामलों में अधिक प्रभुत्व हासिल करने के भारत के अभियान को रोकने की कोशिश करना चाहता है।
-भारत और अमेरिका के बीच बेहतर संबंधों से भी चीन का संकट बढ़ गया।
-चीन का मानना है कि एशियाई मंच पर उसके प्रभुत्व को चुनौती देने वाला भारत ही है।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: