Headline • जल्द ही निजी हाथों में होगा एयर इंडिया का ऑपरेशन: अरुण जेटली• बौखलाए चीन ने कहा- हमारे मामले में दखलंदाजी ने करे जी-7 समूह• शमी के बारे में बोले शोएब मलिक, गुस्साए इंडियन फैन्स ने दे डाली नसीहत• दर्शकों को पसंद आ रही है 'सचिन: अ बिलियन ड्रीम्स', पहले दिन लगाया कमाई का मास्टर स्ट्रोक• VIDEO: लड़की को कभी गोद में उठाया तो कभी छाती पर मारा हाथ, 14 लड़कों की इस घिनौनी हरकत पर आ जाएगी शर्म• प्रेमी के साथ मिलकर पिता के हत्या की साजिश रच रही थी बेटी, 4 साल के मासूम भाई को हो गई जानकारी तो...• देसी बम फटने से बच्चे घायल, मौके पर पहुंची बम स्कॉवयड टीम• CBSE 12th Result 2017: 99.6 प्रतिशत अंक हासिल कर रक्षा ने किया टॉप• US प्लेन का चीनी फाइटर जेट ने रोका रास्ता, साउथ चाइना सी के ऊपर भर रहा था उड़ान• सोनाक्षी सिन्हा के सामने कोरियोग्राफर लुईस की फटी पैंट, वायरल हुआ VIDEO • दलितों से मिलने वाले थे योगी, अफसरों ने बांटे साबुन-शैम्पू, कहा- नहाकर ही CM से मिलना• PWD घोटाले में जनता के पैसों की लूट, आरोपियों की जल्द होगी गिरफ्तारी- केशव मौर्य• खौफनाक VIDEO: जान की भीख मांगता रहा युवक, सीने पर चढ़ लाठी बरसाती रही बेरहम महिला• बुरहान वानी के बाद सब्जार बना था हिज्बुल का कमांडर, आर्मी ने किया ढेर• दिल्ली में हाई अलर्ट: राजधानी में घुसे 20 आतंकी, निशाने पर कई राज्य• J&K में सिक्युरिटी फोर्सेस ने 6 आतंकियों को किया ढेर, घुसपैठ की कर रहे थे कोशिश• सड़क पर सोलो ड्राइविंग के हैं आप शौकिन; इस खबर को पढ़ने से सेफ होगी आपकी यात्रा!• इलाहाबाद: शेल्टर होम में बच्चों के बांधे हाथ-पैर, बेरहमी से पिटाई का सामने आया VIDEO• UP में जल्द दिखेगा बदलाव: L&O पर बोले शाह- 'योगी सरकार उठा रही कठोर कदम'• इंडियन आर्मी ने PAK की BAT से लिया बदला, 2 आतंकियों को किया ढेर • जेवर कांड: गैंगरेप मामले में पीड़िता ने बदला बयान, कहा- 'पड़ोस के लोग नहीं थे शामिल'• मोदी के तीन साल पूरे होने पर बाजार में बहार, 31 हजार के पार पहुंचा सेंसेक्स • खौफ के साये में यहां पढ़ाई कर रहे बच्चे, स्कूल भेजने से ग्रामीण करने लगे हैं परहेज • देश के सबसे लंबे पुल का पीएम ने किया इनॉगरेशन, आसानी से चीन बॉर्डर तक पहुंचेगी आर्मी• 'मायावती सहारनपुर न जाती तो नहीं बढ़ता दंगा'
ट्रिपल तलाक के खिलाफ 10 लाख मुस्लिम महिलाओं ने किया हस्ताक्षर

नई दिल्ली. ट्रिपल तलाक का मामला अब तेज होता नजर आ रहा है। तीन तलाक और निकाह हलाला के खिलाफ देशभर से करीब 10 लाख मुस्लिमों ने हस्ताक्षर के जरिए विरोद्द दर्ज किया है। इस प्रथा को खत्म करने के लिए एक याचिका पर भारी संख्या में महिलाओं ने भी हस्ताक्षर की हैं। यह याचिका एमआरएम ने शुरु किया है। 

    क्या है तीन तलाक 

- कुरान के मुताबिक, किसी को पहली बार तलाक कहने के बाद एक व्यक्ति के पास तीन महीने का समय होता है।

- कि वो इस पर गौर करे, लेकिन इसके बाद अगर वो बाकी के दो 'तलाक' भी बोल देता है तो पति-पत्नी के बीच 'तलाक' को मंजूर मान लिया जाता है।

- ‘निकाह हलाला’ का मतलब है कि कोई व्यक्ति तीन तलाक के बाद किसी महिला से तबतक पुनर्विवाह नहीं कर सकता है।

- जबतक वह किसी अन्य व्यक्ति के साथ अपना वैवाहिक संबंध कायम नहीं कर लेती है और उसके नये पति की मृत्यु न हो जाए या वह उसे तलाक न दे दे।

   1980 के बाद किसी BJP को मिली 300 से ज्यादा सीटें

- एक चैनल के रिपोर्ट्स के अनुसार इस याचिका को प्रदेश में काफी समर्थन मिला है। 

- इसी कारण यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला।

- 1980 के बाद पहली बार किसी पार्टी ने प्रदेश की 403 सीटों में 312 पर जीत दर्ज की है। 

    प्रदेश में 18.5 फीसदी जनसंख्या मुस्लिमों की 

- हालिया जनगणना के मुताबिक देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की आबादी करीब 20 करोड़ है।

- जिसमें लगभग 18.5 प्रतिशत जनसंख्या मुस्लिमों की है।

- तीन तलाक का मुद्दा अभी उच्चतम न्यायालय में लंबित है। 

- इसी बीच कुछ महिलाओं ने इस संबंध में एक याचिका दायर की है।

    क्या कहना हैं केंद्र सरकार का 

- सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने तीन तलाक के विरोध में अपनी दलील रखते हुए इसे संविधान के खिलाफ बताया था।

- केंद्र ने कहा था कि यह महिलाओं के साथ अन्याय और भेदभाव की धारणा पैदा करता है।

- हालांकि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने शीर्ष अदालत में तीन तलाक की पैरवी करते हुए कहा था कि महिला की हत्या करने से बेहतर उसे तलाक देना है।

- मुस्लिम संस्था ने कहा, 'धर्म के नियमों पर अदालती कानून सवाल नहीं उठा सकती।'

   पीएम मोदी कर चुके है विरोध

- 2016 में पीएम नरेंद्र मोदी ने भी तीन तलाक का विरोध करते हुए कहा इसे खत्म करने की वकालत की थी।

- उन्होंने कहा था, 'मुस्लिम महिलाओं के जीने के अधिकार को तीन तलाक के जरिए बर्बाद नहीं किया जा सकता।' 

- इसके साथ ही मोदी ने इस मुद्दे को राजनीतिक रंग देने और वोटबैंक के लिए इस्तेमाल करने पर विपक्ष की आलोचना की थी।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: