Headline • 4 फरवरी को थी बेटी की शादी, शनिवार को घर आना था जवान को, लेकिन शाम तिरंगे में लिपटी लाश पहुंचेगी• कैदियों में सुधार लाने की अच्छी पहल, उरई जेल ने किया ओलंपियाड का आयोजन• अब हाईकोर्ट से AAP को लगा झटका, तिलमिलाई पार्टी बोली, मोदी का कर्ज चुका रहे हैं CEC ज्योति• कोर्ट मैरिज करने पहुंचे प्रेमी जोड़े ने किया हाईवोल्टेज ड्रामा• डोकलाम में निर्माण गतिविधियों की चीन ने की पुष्टि, कहा, उसके अधिकार क्षेत्र में आता है यह इलाका• पोर्न स्टार का दावा, डोनाल्ड ट्रंप के साथ उसके थे सेक्स संबंध, राष्ट्रपति के सचिव ने दिया पैसा• कंफ्यूज्ड विराटः किसे चुने यहां तो सभी फ्लाॅप, तीसरे टेस्ट में एक नहीं चार की हो सकती है छुट्टी• गाजीपुर में रखी गई पूर्वांचल के पहले लाॅजिस्टिक पार्क की नींव, 2 लाख टन भंडारन की क्षमता• कृषि मंत्री का सपा पर बड़ा वार, कहा, चोरों की तरह सड़क पर आलू फेंक गए• पद्मावत विवाद : ओवैसी ने मुसलमानों से कहा- 'फिल्म देखकर वक्त और पैसे बर्बाद न करें'• केजरीवाल सरकार को तगड़ा झटका, चुनाव आयोग ने दिया 20 विधायकों को अयोग्य करार• प्रेग्नेंट हैं न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंदा आर्डर्न, जल्द लेंगी छह सप्‍ताह की छुट्टी• जंगली जानवरों के लिए बिछाए गए जाल में फंसा तेंदुआ, पीलीभीत रेस्क्यू टीम का हो रहा है इंतजार• घायलों ने तड़प-तड़पकर तोड़ा दम,पुलिस अस्पताल ले जाने की बजाय कहती रही-'गाड़ी गंदी हो जाएगी'• जिला अस्पताल से बाबा साहेब का नाम हटाया तो दलित समाज के लोगों ने बोर्ड पर पोत दिया काला पेंट• गाजियाबाद : रेल की पटरी काट रहा था युवक, लोगों ने पीट पीटकर कर दी ऐसी हालत, देखें तस्वीरें• सुप्रीम कोर्ट ने 'पद्मावत' फिल्म का विरोध करने वालों को दिया बड़ा झटका, कहा...• मुजफ्फरनगर दंगों के मामले में पूर्व मंत्री संजीव बालियान और विधायक उमेश मलिक कोर्ट में पेश• लखनऊ : देर रात घर में घुसे डकैत, विरोध करने पर तीन को मारी गोली,2 नाबालिग लड़कियों का किया अपहरण• Blue Whale गेम खेलती थी ऋतिक को चाकू मारने वाली छात्रा,दो बार घर से भी...• 24 घंटे में पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, दो लोगों की मौत, 7 घायल• दरोगा ने की थी महिला सिपाही से छेड़छाड़, 14 महीने बाद दर्ज हुआ मुकदमा• हरियाणवी सिंगर ममता शर्मा की निर्मम हत्‍या, खेत में मिला शव• इलाहाबाद पहुंचे सीएम योगी, संत सम्मेलन में लेंगे हिस्सा• मानवता शर्मसार : गैंगरेप पीड़िता का इलाज नहीं कर रहे डॉक्टर, बिस्तर पर पड़ी तड़प रही है महिला

ट्रिपल तलाक के खिलाफ 10 लाख मुस्लिम महिलाओं ने किया हस्ताक्षर

नई दिल्ली. ट्रिपल तलाक का मामला अब तेज होता नजर आ रहा है। तीन तलाक और निकाह हलाला के खिलाफ देशभर से करीब 10 लाख मुस्लिमों ने हस्ताक्षर के जरिए विरोद्द दर्ज किया है। इस प्रथा को खत्म करने के लिए एक याचिका पर भारी संख्या में महिलाओं ने भी हस्ताक्षर की हैं। यह याचिका एमआरएम ने शुरु किया है। 

    क्या है तीन तलाक 

- कुरान के मुताबिक, किसी को पहली बार तलाक कहने के बाद एक व्यक्ति के पास तीन महीने का समय होता है।

- कि वो इस पर गौर करे, लेकिन इसके बाद अगर वो बाकी के दो 'तलाक' भी बोल देता है तो पति-पत्नी के बीच 'तलाक' को मंजूर मान लिया जाता है।

- ‘निकाह हलाला’ का मतलब है कि कोई व्यक्ति तीन तलाक के बाद किसी महिला से तबतक पुनर्विवाह नहीं कर सकता है।

- जबतक वह किसी अन्य व्यक्ति के साथ अपना वैवाहिक संबंध कायम नहीं कर लेती है और उसके नये पति की मृत्यु न हो जाए या वह उसे तलाक न दे दे।

   1980 के बाद किसी BJP को मिली 300 से ज्यादा सीटें

- एक चैनल के रिपोर्ट्स के अनुसार इस याचिका को प्रदेश में काफी समर्थन मिला है। 

- इसी कारण यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिला।

- 1980 के बाद पहली बार किसी पार्टी ने प्रदेश की 403 सीटों में 312 पर जीत दर्ज की है। 

    प्रदेश में 18.5 फीसदी जनसंख्या मुस्लिमों की 

- हालिया जनगणना के मुताबिक देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की आबादी करीब 20 करोड़ है।

- जिसमें लगभग 18.5 प्रतिशत जनसंख्या मुस्लिमों की है।

- तीन तलाक का मुद्दा अभी उच्चतम न्यायालय में लंबित है। 

- इसी बीच कुछ महिलाओं ने इस संबंध में एक याचिका दायर की है।

    क्या कहना हैं केंद्र सरकार का 

- सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने तीन तलाक के विरोध में अपनी दलील रखते हुए इसे संविधान के खिलाफ बताया था।

- केंद्र ने कहा था कि यह महिलाओं के साथ अन्याय और भेदभाव की धारणा पैदा करता है।

- हालांकि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने शीर्ष अदालत में तीन तलाक की पैरवी करते हुए कहा था कि महिला की हत्या करने से बेहतर उसे तलाक देना है।

- मुस्लिम संस्था ने कहा, 'धर्म के नियमों पर अदालती कानून सवाल नहीं उठा सकती।'

   पीएम मोदी कर चुके है विरोध

- 2016 में पीएम नरेंद्र मोदी ने भी तीन तलाक का विरोध करते हुए कहा इसे खत्म करने की वकालत की थी।

- उन्होंने कहा था, 'मुस्लिम महिलाओं के जीने के अधिकार को तीन तलाक के जरिए बर्बाद नहीं किया जा सकता।' 

- इसके साथ ही मोदी ने इस मुद्दे को राजनीतिक रंग देने और वोटबैंक के लिए इस्तेमाल करने पर विपक्ष की आलोचना की थी।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर



वीडियो

हमारे एंकर्स



शो

:
:
: