Headline • CM योगी के मंच पर दिखे अमनमणि त्रिपाठी, पत्नी की हत्या के केस में आरोपी • BJP विधायक के बेतुके बोल- 'मोबइल यूज करने से घर छोड़कर गलत हाथों में चली जाती हैं लड़कियां'• पहली बार लंदन से चीन पहुंची डॉयरेक्ट ट्रेन, सफल हुआ 'वन बेल्ट वन रोड' पॉलिसी • कच्ची शराब फैक्ट्री का भाण्डाफोड़, पुलिस ने नष्ट की कई भट्टियां• ईवीएम पर सवाल उठाने वालों को जनता ने दिया जवाब, EVM का मतलब है 'एवरी वोट मोदी': CM योगी• पति दहेज में मांगता था मोटरसाइकल, नहीं मिली तो पत्नी के साथ किया ये...• फार्मूला ई रेसिंग कार चलाने वाली पहली भारतीय महिला बनी ये एक्ट्रेस • कमाई में सलमान- आमिर को भी बाहुबली ने छोड़ा पीछे, पहले दिन ही आया 201 करोड़   • शहीद कैप्टन आयुष पंचतत्व में हुए विलीन, अंतिम यात्रा में उमड़ा शहर, रो पड़ी हर आंख• तीन तलाक पर बोलें पीएम मोदी- 'इस मुद्दे को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखें' • विवाह समारोह में पसरा मातम का सन्नाटा, 9 की मौत 15 घायल• प्राइवेट प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टर सुधर जाए, नहीं तो होगी बड़ी कार्रवाई: सिद्दार्थनाथ सिंह • परेशान था प्रेमी जोड़ा, पुलिस वाले बनें बाराती, थाने में हुई शादी• स्वामी प्रसाद मौर्य ने तीन तलाक पर दिया विवादित बयान, कहा- हवस पूरी करने के लिए बदलते हैं बीवियां• गायत्री प्रजापति को बेल देने वाले जज ओपी मिश्रा हुए सस्पेंड, 30 अप्रैल को होने जा रहे है रिटायर • इस DM के विदाई पर रो पड़े अधिकारी- कर्मचारी, कार्यों के साथ मिला सम्मान • बल्ड कैंसर से जुझ रहे जवान की मदद के लिए आगे आई सेना • योगी की राह पर चले केजरीवाल, रद्द होंगी महापुरुषों के जन्म और निर्वाण दिवस की छुट्टियां• गाजियाबाद में पटाखा फैक्ट्री में ब्लास्ट, 5 की मौत• पेट्रोल पंप पर STF की छापेमारी, चिप लगाकर पेट्रोल की हो रही थी चोरी• इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों का हंगामा, हॉस्टल खाली कराए जाने को लेकर बढ़ा विवाद• कांग्रेस जैसी हो गई है आप की हालत: कुमार विश्वास• पहले पत्थरबाजी बंद हो तब पैलेट गन बंद करने को कहेंगे: सुप्रीम कोर्ट• पुलिस वालों के लिए धरने पर बैठे 'अर्थी बाबा'• सीएम योगी आदित्यनाथ ने की शहीद कैप्टन के परिजनों को 30 लाख की मदद की घोषणा
प्रवासी भारतीयों से बोले PM, आपकी सुरक्षा सर्वोपरि, हम पासपोर्ट का कलर नहीं देखते

बंगलुरु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बंगलुरु में 14वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन को संबोधित किया। बता दें कि इस कार्यक्रम में सात दिनों के लिए भारत आए पुर्तगाली प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा भी मौजूद रहे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विकास यात्रा में प्रवासी भारतीय हमारे साथी हैं। वे जहां भी गए, उन्होंने उसी देश को अपना कर्म भूमि माना और भारत का मान बढ़ाया है। मोदी ने कहा कि भारत से बाहर जाने वाले लोगों के लिए प्रवासी कौशल विकास योजना लाई गई है। इससे लोग अब पूरे आत्मविश्वास के साथ विदेश जा सकते हैं। 

ब्रेन ड्रेन' को 'ब्रेन गेन' में बदलने की कोशिश

-प्रधानमंत्री ने कहा कि विदेश में रोजगार ढूंढने वाले भारतीयों के लिए जल्द ही सरकार प्रवासी कौशल विकास योजना शुरू करेगी।

- उन्होंने कहा कि विदेश में रहने वाले सभी भारतीयों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है।

-मोदी ने कहा कि ये एक ऐसा आयोजन है जहां मेहमान भी आप ही हैं और मेजबान भी आप ही हैं। हम 'ब्रेन ड्रेन' को 'ब्रेन गेन' में बदलना चाहते हैं।

- पीएम ने कहा कि तीन करोड़ प्रवासी भारतीय हमारे लिए बेहद आदरणीय हैं।

-उन्होंने कहा कि भारतीय लोग पासपोर्ट का कलर नहीं, बल्कि खून का रिश्ता देखते हैं। प्रवासी भारतीय हर साल 69 बिलियन डॉलर भारत जमा करते हैं, जोकि भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए बेहद अहम है।

 

6000 से अधिक प्रतिनिधि शामिल 

-तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन में दुनिया भर से 6000 से अधिक प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

-बता दें कि यह आयोजन विदेशों में रह रहे भारतीयों को दुनिया के विभिन्न भागों में रह रहे भारतीय समुदाय से मिलने जुलने व संपर्क बनाने का अवसर देगा।

-आयोजकों का कहना है कि पीबीडी 2017 के लिए कुल मिलाकर 6346 पंजीकरण हुए हैं।

-पीएम मोदी ने कहा कि विदेशों में भारतीयों को केवल संख्या की वजह से नहीं बल्कि उनके योगदान के लिए जाना जाता है और इसके लिए उन्हें सम्मानित भी किया जाता है।

-मोदी ने कहा कि सफल प्रवासी भारतीयों को भारत की विकास से जुड़ने का मौका मिलना चाहिए।

-खास तौर पर विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में हमने कई कदम उठाए हैं। हमने इसके लिए योजनाएं भी बनाई हैं। जिसके तहत प्रवासी भारतीयों को भारतीय संस्थानों में तीन महीने कार्य करने का अवसर मिलेगा।

 

पीएम मोदी ने की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की तारीफ

-प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जी ने सोशल मीडिया की मदद से विदेश में रह रहे व्यथित भारतीयों की बहुत शीघ्र मदद करने का काम किया है।

-उन्होंने कहा कि जो श्रमिक विदेशों में आर्थिक अवसरों की तलाश के लिए जा रहे हैं, उन्हें असुविधा न हो इसके लिए अधिकतम सरलीकरण सुनिश्चित करने का हमने प्रयास किया है'।

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 
  • samachar plus
  • live-tv-uttrakhand
  • live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

  • आलोक वर्मा

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    23 सालों से पत्रकारिता में सक्रिय। दैनिक जागरण, करंट न...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: