Headline • बैग से पेट को क्यों छुपा रही है बिपाशा, क्या वह प्रेग्नेंट है, देखें वीडियो• वाराणसी में बन गई अवैध अंडरग्राउंड मार्केट लेकिन प्राधिकरण और नगर निगम को खबर तक नहीं • पाकिस्तान के पीएम ने आतंकी हाफिज सईद को साहब और पाक साफ कहा, भारत में तीखी प्रतिक्रिया• बल्लेबाजों पर भड़के कोहली, कहा-उनकी असफलता के कारण मिली हार • गंभीर की याचिका पर हाईकोर्ट ने जारी किया रेस्टाॅरेंट चेन के मालिक को नोटिस• शेयर बाजार में तेजी, पहली बार सेंसेक्स 35000 के पार• तीन बच्चों की मां आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले अपने भतीजे पर फिदा, उससे शादी करने पर आमादा, पुलिस मौन• बीवी को दी बेटी पैदा करने की सजा, घर से निकाला, अब बेटियों को बेचने पर आमादा शौहर, 14 साल में सात बेटियां• मुन्ना बजरंगी का नाम सुनते ही योगी के मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह की हुई सिट्टी-पिट्टी गुम• कागजी शेर साबित हुए विराट और उसके खिलाड़ी, दूसरे टेस्ट में भी भारत की शर्मनाक हार, सीरीज गंवाई• पाकिस्तानी होने का दर्द बयां किया एक्ट्रेस सबा कमर ने, कहा, हमें आतंकी देश से क्यों कहा जाता है • अमेजन और फिल्पकार्ट पर जल्द शुरू होगी सेल• लखनऊ:पुलिस सिपाही अभ्यर्थियों का धरना, तीन नदी में कूदे• काॅलेज मैनेजर पर छेड़खानी का आरोप, रिपार्ट दर्ज कर पुलिस ने की जांच शुरु• पद्मावत विवाद : 4 राज्यों में बैन के खिलाफ SC पहुंचे फिल्म निर्माता• 25 जनवरी को नहीं अब इस तारीख को रिलीज हो सकती है 'पद्मावत'• 'नामकरण' सीरियल के इस एक्टर ने की सगाई, देखें तस्वीरें• 21 देश और 16 हजार किमी की दूरी साइकिल से तय कर जर्मन पति-पत्नी पहुंचे ताज का दीदार करने• साबरमती आश्रम में नेतन्याहू ने पत्नी के संग चलाया चरखा,पीएम मोदी के साथ उड़ाई पतंग• अपने दोस्त बेंजामिन को लेकर मोदी ने किया रोड शो, स्वागत के लिए उमड़ी भीड़• बागपत : एक ही परिवार के छह बच्चे लापता,परिजनों ने जताई अपहरण की आशंका• लखीमपुर : यूपी एसटीएफ ने ढेर किया एक लाख का इनामी बदमाश बग्गा सिंह• UP : टला बड़ा रेल हादसा, सिद्धार्थनगर में कटी मिली रेल पटरी• कानपुर : NIA ने छापा मारकर पकड़े 96 करोड़ रुपए के पुराने नोट,16 गिरफ्तार• पति और बेटे की मौत के बाद शौचालय में रहने को मजबूर है ये बुजुर्ग महिला,CM योगी कब दिलाएंगे घर!

'मेरे कहने पर कारसेवकों ने अयोध्या में तोड़ा था विवादित ढांचा'

लखनऊ. बीजेपी के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने बाबरी विध्वंस मामले में बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि ''कारसेवकों ने उनके आदेश पर विवादित ढ़ांचे को तोड़ दिया था। मैंने बाबरी मस्जिद को तोड़वाया था।'' वेदांती ने ये भी कहा कि ''विवादित ढ़ांचा गिरवाने के लिए उन्हें फांसी हो जाने पर भी कोई गम नहीं है।''

 

क्या है मामला?

- अयोध्या में बाबरी विध्वंस का केस सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। दो दिन पहले ही आडवाणी समेत 13 लोगों के खिलाफ केस चलाने का निर्देश दिया गया था।

- राम मंदिर जैसे संवेदनशील मामले में बीजेपी के पूर्व सांसद का बयान काफी मायने रखता है।

- राम विलास वेदांती ने स्पष्ट कहा है कि उनके हुक्म पर कारसेवकों ने विवादित ढ़ांचे को गिरा दिया था।

- हालांकि, इस मामले में बीजेपी की ओर से कोई बयान अभी तक नहीं आया है।

 

कब गिराई गई थी बाबरी मस्जिद?

- 6 दिसंबर 1992 को हजारों की संख्या में कार सेवकों ने अयोध्या पहुंच गए थे।

- कारसेवकों ने मस्जिद पर चढ़कर उसके कई हिस्सों को तोड़ दिया था।

- इसके बाद देश में कई जगह सांप्रदायिक दंगे हुए थे। फिलहाल, इस मामले पर केस सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है।

- सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों से आपसी बातचीत के आधार पर भी निष्कर्ष निकालने को कहा है।

 

कौन हैं रामविलास वेदांती?

- रामविलास वेदांती बीजेपी के पूर्व सांसद हैं। 

- प्रतापगढ़ से जीतकर वे 12 वीं लोकसभा के सदस्य बने थें।

- रामजन्म भूमि न्यास के सदस्य भी हैं रामविलास वेदांती।

 

संबंधित समाचार

फ़टाफ़ट खबरे

 

live-tv-uttrakhand

live-tv-rajasthan

ब्लॉग

लीडर

  • उमेश कुमार

    एडिटर-इन-चीफ,समाचार प्लस

    उमेश कुमार समाचार प्लस के एडिटर इन चीफ हैं।

  • प्रवीण साहनी

    एक्जक्यूटिव एडिटर

    प्रवीण साहनी पत्रकारिता जगत का जाना-माना नाम और चेहर...

आपका शहर आपकी खबर

वीडियो

हमारे एंकर्स

शो

:
:
: